shabd-logo

नकुल कुमार के बारे में

.

Other Language Profiles
no-certificate
अभी तक कोई सर्टिफिकेट नहीं मिला है|

नकुल कुमार की पुस्तकें

सवा हाथ ज़िंदगी

सवा हाथ ज़िंदगी

प्रस्तुत पुस्तक एक ग़ज़ल संग्रह है जिसमें स्वरचित ग़ज़लें संग्रहित हैं। ग़ज़ल ऐसी विधा है जो वर्तमान में अधिक पसंद की जा रही है जिसके माध्यम से कठिन बातों को भी आसानी से कहा जा सकता है

14 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

सवा हाथ ज़िंदगी

सवा हाथ ज़िंदगी

प्रस्तुत पुस्तक एक ग़ज़ल संग्रह है जिसमें स्वरचित ग़ज़लें संग्रहित हैं। ग़ज़ल ऐसी विधा है जो वर्तमान में अधिक पसंद की जा रही है जिसके माध्यम से कठिन बातों को भी आसानी से कहा जा सकता है

14 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

नकुल कुमार के लेख

3. ग़ज़ल

4 जनवरी 2023
0
0

चाय भी कि अब जैसे शराब हो गयी है ऐ इश्क़ मेरी ज़िंदगी ख़राब हो गयी है पहले तो हँसता था मैं सितारों के साथ अब हँसी भी मेरी तार-तार हो गयी हैं तेरी मुहब्बत में अब जागते न सोते हैं  रोते हैं यूँ कि

2. ग़ज़ल

4 जनवरी 2023
1
0

उलझे हुए हिसाब  की  किताब बन जाऊँगा बे-पैरहन तेरे जिस्म का लिबास बन जाऊँगा रूह बन  उतर  जाऊँगा  तेरे  जिस्म के अंदर तुझे  चाँद  कहुँगा और तेरा दाग बन जाऊँगा तू  बरसती  रहेगी  यूँ  ही  उम्र  भर  मु

1. ग़ज़ल

4 जनवरी 2023
3
2

मैं  भी  कर  सकता  हूँ  पूरी  बारिशों की कमी छोड़ कर  तेरे  होठों  पे अपने  होठों  की  नमी कोई  चखे  या  ना  चखे, मुझे  तो   चखने  दे लगती   है  तू  पानी  की  कोई   बूँद  शबनमी तेरे   बदन  के

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए