shabd-logo

सशस्त्र सेना झंडा दिवस

hindi articles, stories and books related to sshstr senaa jhNddaa divs

सशस्त्र सेना झंडा दिवस या झंडा दिवस प्रत्येक वर्ष ७ दिसंबर को मनाया जाता है, जिसका मुख्य उद्देश्य भारतीय सेना के जवानों का आभार प्रकट करते हुए सेना के लिए धनराशि एकत्र करना है, जिसकी जरूरत आजादी के बाद ही भारतीय सशस्त्र बलों के कर्मियों और सेना के कल्याण हेतु लगी। भारतीय सेना हम सबके दिलों पर राज करती है लिखिए इन विषयों पर अपने विचार।


अनवर मियाँ को भरोसा था कि एक न एक दिन उन्हें अलादीन का चिराग जरुर हासिल होगा। अपने भरोसे पर कायम अनवर मियाँ जिन्नों की बस्ती ढूँढ-ढूँढ कर थक चुके थे। ऐसा कोई कबाड़ का बाज़ार नहीं था जो उन्होंने इस चक्कर

एक बार एक विद्यार्थी था ,वह एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ता था वह पढ़ने में अच्छा था और होनहार भी था। यह उन दिनों की बात है, तब हमारे देश में एक बीमारी चल रही थी जिसका नाम कोरोना था ।एक दिन वह अपनी कक्षा

हर साल 7 दिसंबर को भारत सशस्त्र सेना के कर्मचारियों के कल्याण के लिए दान जुटाने के लिए सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाता है। यह दिन भारतीय सैनिकों, नाविकों और पायलटों के सम्मान में मनाया जाता है। यह द

मुझे याद है उन शहीदों की शहादत जिन्होंने मेरे देश के लिए कुर्बानियां दी . कभी न सोचा की मेरा क्या होगा जन से बढ़कर देश की सेवा की. ममता सिसक सिसक कर उस आँगन में आज भी रोती है जहाँ उस सैनिक की स्मृति

featured image

परिचय: सशस्त्र सेना झंडा दिवस हर साल 7 दिसंबर को मनाया जाता है। यह दिन उन सशस्त्र बलों को समर्पित है जो हमारे देश की सुरक्षा और अखंडता को संरक्षित रखने के लिए निरंतर प्रयासरत रहते हैं। इस दिन को मनाने

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए