shabd-logo

सभी किताबें

कचोटती तनहाइयाँ

मैं आप सबके लिए एक नई कहानी लेकर आई हूँ ,जिसका शीर्षक है 'कचोटती तनहाइयाँ '। मेरी ये कहानी पूर्णतः काल्पनिक है ।मेरी ये कहानी है कहानी के नायक सूर्य प्रताप भानु व उसकी सहधर्मिणी दिव्या प्रताप भानु की । सूर्य प्रताप भानु जो अपने पूर्वजों द्वारा प्राप्

2444 पाठक
46 अध्याय
16 अगस्त 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क


शापित संतान

मैं आप लोगों के लिए एक नई कहानी लेकर आई हूँ -'शापित संतान '।मेरी ये कहानी पूर्णतः काल्पनिक है । एक पिता अपनी संतान के लिए हर त्याग करता है मगर जब उसकी संतान गलत राह पकड़ ले तो उसका सुख ,चैन छिन जाता है ,ऐसी संतान शापित संतान ही होती है ।ऐसी ही शापित

964 पाठक
22 अध्याय
22 जून 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

दैनिक लेखन प्रतियोगिता

यहां पर आपको दैनिक लेखन प्रतियोगिता के परिणामो की जानकारी मिलेगी | मार्च 2023 से ...........

717 पाठक
225 अध्याय
2 मार्च 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

बहू की विदाई

मैं आप लोगों के लिए एक नई कहानी लेकर आई हूँ-'बहू की विदाई' ।मेरी ये कहानी पूर्णतः काल्पनिक है । एक रुढि़वादी ,दकियानूसी ,व स्त्रियों को अपने से नीचे समझने वाले समाज के एक व्यक्ति द्वारा अपनी बहू के विवाह करने पर मेरी ये कहानी है 'बहू की विदाई' । मेर

669 पाठक
20 अध्याय
7 जून 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

प्रतिउत्तर???

पारिवारिक साख प्रतिष्ठा मान मर्यादा और स्वयं की लज्जा एवं भीरुता के कारण जो मुद्दे समाज से अछूते रह गए उसका उत्तरदायी कौन ॽॽ ,अवनी , राजीव,या फिर उनका परिवेश संस्कार या आधुनिकता के बहाने सिनेमा घरों में परोसी गयी अश्लीलता जो रिश्तो के तानो बानो को

766 पाठक
76 अध्याय
11 जनवरी 2024
अभी पढ़ें
निःशुल्क

हमें मिलना ही था

एक झलक 👉 चारों तरफ घटा घिरी हुई थी ठंडी ठंडी हवा का झोंका मन को लुभा रहा था,,, ऊपर से पड़ती रिमझिम बारिश,, रह रह के आसमान में चमकती बिजली दिल में एक अजीब सी बेचैनी पैदा कर रही थी,,, । मिट्टी से उठती हुई सोंधी खुशबू,, दिल को लुभा रही थी नूरी पगडंडी

263 पाठक
60 अध्याय
20 अगस्त 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क


कायरा का इंसाफ

मैं आप लोगों के समक्ष एक नई कहानी लेकर आई हूं (कायरा का इंसाफ) यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है, इस कहानी के पात्र के नाम या घटना अगर किसी से जुड़े हैं, तो वह सिर्फ एक संयोग ही होगा, इस कहानी का किसी के वास्तविक जीवन से भी कोई लेना देना नहीं है, यह क

अभी पढ़ें
निःशुल्क

आवारा मसीहा

मूल हिंदी में प्रकाशन के समय से 'आवारा मसीहा' तथा उसके लेखक विष्णु प्रभाकर न केवल अनेक पुरस्कारों तथा सम्मानों से विभूषित किए जा चुके हैं, अनेक भाषाओं में इसका अनुवाद प्रकाशित हो चुका है और हो रहा है। 'सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार' तथा ' पाब्लो नेरुदा

291 पाठक
68 अध्याय
27 अगस्त 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

प्रतियोगिताएं

शब्द.इन की सभी चल रही प्रतियोगिताओ और पिछले प्रतियोगिताओ की जानकारी के लिए क्लिक कीजिये

4609 पाठक
8 अध्याय
8 जून 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

शायरी संग्रह

हर वो रह गुज़र जहां से गुजरा था तू  कभी निहारती हूं इस उम्मीद में कभी आएगा यहीं दिल में उठते हुए ज्ज़बात का आइना है मेरी किताब!प्यार के हर एक रंगको मैंने अपने शेरों द्वारा आप तक पहुचाने की मैंने भरपूर कोशिश की है ऊपर लिखा हुआ शेर और इस प्रकार के बह

165 पाठक
68 अध्याय
29 अगस्त 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

चिन्दियाँ

चंद शब्दों में बड़ी बातें कहने की कोशिश

70 पाठक
114 अध्याय
25 मार्च 2024
अभी पढ़ें
निःशुल्क

Meenu की डायरी

आपकी और हमारी कुछ कहीं अनकही बातें,,,,,,,,,,

237 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
35 अध्याय
3 सितम्बर 2023
अभी पढ़ें
46
ईबुक

घर-घर की कहानी

मनुष्य की ज़िंदगी बड़ी ही कठोर और संघर्षशील होती है । आज के परिवार विखंडन का कारण किसी को स्पष्ट तौर पर पता ही नहीं हो प रही है । एक तरफ तकनीक की दुनिया में सोशल मीडिया और मनोरंजन की दुनिया मई व्यस्त होती हुई जिंदगियाँ और दूसरी तरफ भारतीय संस्कृति और स

52 पाठक
4 लोगों ने खरीदा
80 अध्याय
11 अक्टूबर 2023
अभी पढ़ें
79
ईबुक

डर का साया

एक गांव में सोना नाम की एक सुंदर लड़की रहती थी। वह हमेशा बच्चों की तरह खेलती, हंसती और नाचती थी। लेकिन सोना की एक अजीब आदत थी। वह दूसरों के साथ नहीं खेलती थी और न किसी से बातचीत करती थी। वह अकेली होकर खेलती थी और लोगों से दूर रहती थी। उसे अपनी सुंदरता

186 पाठक
52 अध्याय
13 मई 2024
अभी पढ़ें
निःशुल्क


क्या यही प्यार है?--2

जोगिंदर,रमनी और चंचला के प्यार को जानने के लिए आपको "क्या यही प्यार है" का सीजन :-1 पढ़ना होगा।अब हम आप को प्यार के एक अलग स्वरुप से अवगत कराएंगे।आईए आप और हम साथ साथ महसूस करें सिया और जिया के प्यार को।कितनी शिद्दत से उन्होंने प्यार किया अपने अपने म

अभी पढ़ें
निःशुल्क

क्या यही प्यार है?

क्या आज की युवा पीढ़ी प्यार का मतलब जानती है ....नहीं।बस आज कल के युवा लैला मजनूं,शीरी फरहाद,इन की कहानी पढ़कर उन राहों पर निकल पड़ते हैं। प्यार पाना ही नहीं होता। प्यार के लिए मर मिटना भी प्यार है। सदियों तक किसी का इंतजार भी प्यार है। आइए हम और आप

अभी पढ़ें
निःशुल्क

शब्द-ए-सफर

शब्दों का महत्व तो इंसान के बोलने पर समझ आता हैं, वरना ” स्वागत ” तो पायदान पर भी लिखा होता हैं। शब्द ही दुनिया हैं” जो भी व्यक्ति शब्दों का महिमा और शब्दों की शक्ति को समझ लेता है, वो व्यक्ति इस जीवन को भी समझ लेता हैं। शब्द से ही इंसान की पहचान हो

48 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
184 अध्याय
2 जून 2023
अभी पढ़ें
66
ईबुक

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए