shabd-logo
रामधारी सिंह दिनकर के बारे में

दिनकर जी का जन्म 24 सितंबर 1908 को बिहार के बेगूसराय जिले के सिमरिया गाँव में एक सामान्य किसान ‘रवि सिंह’ तथा उनकी पत्नी ‘मनरूप देवी’ के पुत्र के रूप में हुआ था। दिनकर दो वर्ष के थे, जब उनके पिता का देहावसान हो गया। परिणामत: दिनकर और उनके भाई-बहनों का पालन-पोषण उनकी विधवा माता ने किया। दिनकर का बचपन और कैशोर्य देहात में बीता, जहाँ दूर तक फैले खेतों की हरियाली, बांसों के झुरमुट, आमों के बग़ीचे और क

Loading...
Loading...
Loading...
Loading...
Loading...
Loading...
Loading...
Loading...
रामधारी सिंह दिनकर की पुस्तकें
रश्मिरथी

रश्मिरथी

इसमें कुल ७ सर्ग हैं, जिसमे कर्ण के चरित्र के सभी

निःशुल्क

रश्मिरथी

रश्मिरथी

इसमें कुल ७ सर्ग हैं, जिसमे कर्ण के चरित्र के सभी

निःशुल्क

विवाह की मुसीबतें

विवाह की मुसीबतें

विवाह की मुसीबतें यह पुस्तक राष्ट्रकवि रामधारी सि

10 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

विवाह की मुसीबतें

विवाह की मुसीबतें

विवाह की मुसीबतें यह पुस्तक राष्ट्रकवि रामधारी सि

10 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

उर्वशी

उर्वशी

उर्वशी रामधारी सिंह 'दिनकर' द्वारा रचित काव्य नाटक

निःशुल्क

उर्वशी

उर्वशी

उर्वशी रामधारी सिंह 'दिनकर' द्वारा रचित काव्य नाटक

निःशुल्क

आधुनिक बोध

आधुनिक बोध

इस पुस्तक में आधुनिकता पर केन्द्रित निबन्ध हैं। एक

निःशुल्क

आधुनिक बोध

आधुनिक बोध

इस पुस्तक में आधुनिकता पर केन्द्रित निबन्ध हैं। एक

निःशुल्क

'कुरुक्षेत्र'

'कुरुक्षेत्र'

'कुरुक्षेत्र' का प्रतिपाद्य यही है कि मनुष्य क्षुद

निःशुल्क

'कुरुक्षेत्र'

'कुरुक्षेत्र'

'कुरुक्षेत्र' का प्रतिपाद्य यही है कि मनुष्य क्षुद

निःशुल्क

हुंकार

हुंकार

रामधारी सिंह दिनकर स्वभाव से सौम्य और मृदुभाषी थे,

3 पाठक
18 रचनाएँ

निःशुल्क

हुंकार

हुंकार

रामधारी सिंह दिनकर स्वभाव से सौम्य और मृदुभाषी थे,

3 पाठक
18 रचनाएँ

निःशुल्क

विविध कविताएं

विविध कविताएं

रामधारी सिंह दिनकर साहित्य के वह सशक्त हस्ताक्षर ह

3 पाठक
19 रचनाएँ

निःशुल्क

विविध कविताएं

विविध कविताएं

रामधारी सिंह दिनकर साहित्य के वह सशक्त हस्ताक्षर ह

3 पाठक
19 रचनाएँ

निःशुल्क

हारे को हरिनाम

हारे को हरिनाम

केवल कवि ही कविता नहीं रचता, कविता भी बदले में कवि

2 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

हारे को हरिनाम

हारे को हरिनाम

केवल कवि ही कविता नहीं रचता, कविता भी बदले में कवि

2 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

द्वन्द्व गीत

द्वन्द्व गीत

ऐसे समय में, जब देश के अधिसंख्य लेखक राजनीतिक विचा

2 पाठक
116 रचनाएँ

निःशुल्क

द्वन्द्व गीत

द्वन्द्व गीत

ऐसे समय में, जब देश के अधिसंख्य लेखक राजनीतिक विचा

2 पाठक
116 रचनाएँ

निःशुल्क

वेणुवन

वेणुवन

राष्ट्रकवि दिनकर के इस 'वेणुवन' में लेख भी हैं, नि

2 पाठक
7 रचनाएँ

निःशुल्क

वेणुवन

वेणुवन

राष्ट्रकवि दिनकर के इस 'वेणुवन' में लेख भी हैं, नि

2 पाठक
7 रचनाएँ

निःशुल्क

और देखे