shabd-logo
Shabd Book - Shabd.in

Anjana Sharma की डायरी

Anjana Sharma

11 अध्याय
1 व्यक्ति ने लाइब्रेरी में जोड़ा
12 पाठक
21 फरवरी 2024 को पूर्ण की गई
निःशुल्क

 

anjana sharma kii ddaayrii

0.0(0)

Anjana Sharma की अन्य किताबें

पुस्तक के भाग

1

जिंदगी

20 फरवरी 2024
1
1
0

कोई सुलह करा दे जिंदगी की उलझनों से, बड़ी तलब लगी है आज मुस्कुराने की।

2

*सुकून*

21 फरवरी 2024
1
1
1

*सुकून*की तलाश कीजिए ये जिंदगी के मसले कभी खत्म नहीं होंगे

3

सच्चा मित्र

21 फरवरी 2024
1
2
2

अगर बिकी तेरी दोस्ती तो, पहले खरीदार हम होंगे। तुझे ख़बर न होगी तेरी कीमत की पर तुझे पाकर सबसे अमीर हम होंगे । दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान हैदोस्त ना हो तो महफिल भी शमशान है ।&

4

जिंदगी

22 फरवरी 2024
0
1
0

सबको एक बेहतरीन जिंदगी जीने के लिए यह स्वीकार करना भी जरूरी है कि सबको सब कुछ नहीं मिल सकता!! खुद से प्यार करना शुरू कर दीजिए फिर देखना सारा जहां भी आपको अच्छा लगने लगेगा!! समझदारी वह कलश है

5

एक कप चाय

22 फरवरी 2024
3
3
6

जिंदगी के 60 बसंत देख चुकी हूं और अब लगभग जिंदगी की सभी इच्‍छाएं भी पूर्ण हो चुकी है क्‍योकि बेटा-बहू मल्‍टीनेशनल कम्‍पनी में करोडों के पैकेज में और बेटी-दामाद अपना निजी नर्सिग होम चला रहे है। एक भरेप

6

रिश्ते

13 मार्च 2024
1
1
2

टूट जाते हैं अक्सर वो रिश्ते..जिनको निभाने की कोशिश, एक तरफ से की जाती है।

7

रिश्ता

13 मार्च 2024
2
2
3

किसी भी *रिश्ते* को कितनी भी खूबसूरती से क्यों ना बांधा जाए.....अगर नजरों में इज्जत ...और बोलने में लिहाज....नही, तो वह टूट ही जाता है। अरे साहब अब तो लोग नेकी भी उसी उम्र में करते है

8

असंभव

17 मार्च 2024
0
1
0

असंभव वह नहीं जो हम नहीं कर पाते! असंभव वह है जो हम करना नहीं चाहते।

9

सीख

12 अप्रैल 2024
0
1
0

सीखते रहे उम्र भर,  लहरों से लड़ने का हुनर... हमें कहां पता था कि,  किनारे भी कातिल निकलेंगे। 

10

सफलता

12 अप्रैल 2024
1
2
1

इंसान की सफलता उसके हाथों की लकीरों में नहीं ,  बल्कि उसकी  मेहनत और  पसीने  में होती है। 

11

रिश्‍ता

12 अप्रैल 2024
2
2
1

हम नहीं कहते हमें जिंदगी का हिस्सा बनाए रखना,   दूर रहकर भी दूरियां ना लगे इतना रिश्ता बनाए रखना। 

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए