shabd-logo

Dinesh Dubey के बारे में

मैं दिनेश दुबे, मुंबई में रहता हूं। बचपन से कहानियां पढ़ने और लिखने का शौक था और आगे चल कर फिल्म लाइन में काम करने लगा। मैंने काफी एड फिल्म लिखी और डायरेक्ट की हैं। इसके अलावा कई कहानियां और स्क्रिप्ट पहले भी लिखी है। कुछ डिजिटल प्लेटफार्म पर कहानियां पढ़ी तो फिर लगा कि कुछ कहानियां मुझे भी लिखनी चाहिए और लिखना शुरू कर दिया। लोगो का अच्छा प्रतिसाद भी मिला। अब कुछ कहानियां उपन्यास के रूप में भी प्रकाशित करने की सोचा और अब लगातार किताब प्रकाशित हो रही है। उम्मीद करता हूं, आप लोगो को पसंद आएगी। :)

Other Language Profiles

पुरस्कार और सम्मान

prize-icon
साप्ताहिक लेखन प्रतियोगिता2022-02-06
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-05-30
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-05-20
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-05-12
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-05-05
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-12-17
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-10-25

Dinesh Dubey की पुस्तकें

नए उम्र का प्यार

नए उम्र का प्यार

दो टीन एज बच्चो का प्यार पर आधारित कहानी है,!

55 पाठक
37 रचनाएँ
16 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 11/-

नए उम्र का प्यार

नए उम्र का प्यार

दो टीन एज बच्चो का प्यार पर आधारित कहानी है,!

55 पाठक
37 रचनाएँ
16 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 11/-

खूनी शैतान

खूनी शैतान

यह एक खतरनाक शैतान की कहानी है जिसे इंसानी खून पीने कि आदत है ,

निःशुल्क

खूनी शैतान

खूनी शैतान

यह एक खतरनाक शैतान की कहानी है जिसे इंसानी खून पीने कि आदत है ,

निःशुल्क

खूनी हवेली

खूनी हवेली

एक पुरानी हवेली है ,उसके मालिक ने उसे खरीद कर छोड़ दिया था , पिछले तीस साल से वहां कोई भी रहता नही था कभी कभार कोई एकाध घंटे के लिए आता था तो वहां का सुनसान वातावरण और हवेली के अंदर चलती सायं सायं ठंडी हवा लोगो के होश उड़ देते हैं,और वह लोग वहां त

35 पाठक
35 रचनाएँ
12 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

प्रिंट बुक:

195/-

खूनी हवेली

खूनी हवेली

एक पुरानी हवेली है ,उसके मालिक ने उसे खरीद कर छोड़ दिया था , पिछले तीस साल से वहां कोई भी रहता नही था कभी कभार कोई एकाध घंटे के लिए आता था तो वहां का सुनसान वातावरण और हवेली के अंदर चलती सायं सायं ठंडी हवा लोगो के होश उड़ देते हैं,और वह लोग वहां त

35 पाठक
35 रचनाएँ
12 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

प्रिंट बुक:

195/-

हंसगुल्ले

हंसगुल्ले

छोटे हास्य व्यंग

निःशुल्क

हंसगुल्ले

हंसगुल्ले

छोटे हास्य व्यंग

निःशुल्क

मैरी कविताएं

मैरी कविताएं

कविताएं हैं

निःशुल्क

मैरी कविताएं

मैरी कविताएं

कविताएं हैं

निःशुल्क

जेबकतरी

जेबकतरी

संजना एक सुंदर और स्मार्ट लड़की है ,वह पढ़ने में भी तेज है और अभी उसने फर्स्ट ईयर कॉमर्स में कॉलेज ज्वाइन किया है ,उसका एक दोस्त है वेदांत जो उस से उम्र में दो साल छोटा है और उसे दीदी कह कर संबोधित करता रहता है , दोनो वैसे हैं लोअर मिडिल क्लास फैम

22 पाठक
27 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 66/-

प्रिंट बुक:

227/-

जेबकतरी

जेबकतरी

संजना एक सुंदर और स्मार्ट लड़की है ,वह पढ़ने में भी तेज है और अभी उसने फर्स्ट ईयर कॉमर्स में कॉलेज ज्वाइन किया है ,उसका एक दोस्त है वेदांत जो उस से उम्र में दो साल छोटा है और उसे दीदी कह कर संबोधित करता रहता है , दोनो वैसे हैं लोअर मिडिल क्लास फैम

22 पाठक
27 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 66/-

प्रिंट बुक:

227/-

साइबर क्राईम

साइबर क्राईम

इसमें हम साइबर क्राइम के बारे में जागरूक करना चाहते है

निःशुल्क

साइबर क्राईम

साइबर क्राईम

इसमें हम साइबर क्राइम के बारे में जागरूक करना चाहते है

निःशुल्क

 बुरा आदमी

बुरा आदमी

यह एक लघु कथा है , जो यह दर्शाता है कि इंसान जो दिखता है वैसा अंदर से भी होगा यह सही नहीं है, बुरा आदमी भी अंदर से अच्छा होता है,

निःशुल्क

 बुरा आदमी

बुरा आदमी

यह एक लघु कथा है , जो यह दर्शाता है कि इंसान जो दिखता है वैसा अंदर से भी होगा यह सही नहीं है, बुरा आदमी भी अंदर से अच्छा होता है,

निःशुल्क

तु मेरा है

तु मेरा है

यह एक अल्हड़ लड़की कि कहानी है ,उसे एक लड़का पसंद आ जाता है जो किसी और लड़की से प्यार करता है पर वह लड़की उसे हर हाल में पाना चाहती हैं,

निःशुल्क

तु मेरा है

तु मेरा है

यह एक अल्हड़ लड़की कि कहानी है ,उसे एक लड़का पसंद आ जाता है जो किसी और लड़की से प्यार करता है पर वह लड़की उसे हर हाल में पाना चाहती हैं,

निःशुल्क

और देखे

Dinesh Dubey के लेख

जो बुरे नही है

5 दिसम्बर 2022
0
0

वो बुरे नही है यारों ,जो बुरा आपको हैं कहते ,बुराई है दिमाग में अपने ,जो उनकी बात है मानते ,दूसरो के कहने से हम है चलते ,अपने मन की कभी ना सुनते ,दूसरो पर हम है दोष लगाते ,अपने मन को क्यों ना जगाते,।आ

प्रेम

2 दिसम्बर 2022
1
0

ढाई अक्षर प्रेम का , समझ सका ना कोय, जो इसको है समझ गया , वह काहे परीक्षा लेय, जो ना समझे प्रेम को , वह प्रेम की परीक्षा लेव, प्रेम तो अनमोल है , उसे तराज़ू में ना तौल, प्रेम से बचा ना कोई कोना,

जिंदगी में डरना क्यों

17 नवम्बर 2022
0
0

जिंदगी में डरना क्यों , अच्छा बुरा सोचना क्यों , बढ़ाते रहो तुम अपने कदम , जब तक है तुम में दम ,। कुछ तो हासिल होकर रहेगा , सफलता हो या तजुर्बा , हारने का गम न करना , जीत पर घमंड ना करना ,,।। अपने कर्

मुर्दे को मुर्दा ना कहना

10 नवम्बर 2022
0
0

मुर्दे को मुर्दा ना कहना, है उसमे बड़ी अकड़ , जिंदा जो बन बैठे मुर्दा , पहले उन्हे जकड़ ,। जिंदा रहकर जो जले , वह मानुष कैसे होय, जल जल कर अपना , देता सबकुछ खोय,।। अपना पराया करते करते जो तोड़े

लोहे को लोहा काटता

10 नवम्बर 2022
0
0

लोहा लोहे को काटता , मनुष्य को काटे है सोच , मन में राखे सोच हैं, तन में भरे है मोच,।। लब पे जरा भी लोच नही , मुख से गया है ओज, आंखो से पानी गया , मन में रहा न कोय ,।।

इश्क का पैगाम

10 नवम्बर 2022
0
0

गुजार दिया जिसके याद में , अपनी तमाम जिंदगी , आज उस नामुराद ने , इश्क का पैगाम भेजा है ,। ऐसा लगता है जैसे उसने , कुछ दिन और तड़पने का , कर इंतजाम भेजा है , इश्क का पैगाम भेजा है, जब जवां थी मोह

मेरी फितरत

8 नवम्बर 2022
0
0

असंभव को संभव कर दिखाना , मेरी फितरत है , लगी हुई आग को बुझाना, मेरी फितरत है, बिछड़ों को फिर से मिलाना , मेरी फितरत है, सुप्त प्यार को फिर से जगाना , मेरी फितरत है, हारे हुए को फिर से&nbs

वक्त बदले उसके पहले

28 अक्टूबर 2022
1
0

वक्त बदले उसके पहले , खुद को बदल लो , खुद पर विश्वास कर लो , फिर दूसरो पर अविश्वास करो ,। अपने विचार दूसरो पर ना लादो, दूसरो का भी विचार सुनो, दूसरो को हराने से पहले , खुद पर जीत हासिल करो ,। अपने क्र

बिगाड़ी कामिया,

26 अक्टूबर 2022
0
0

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹भक्ति बिगाड़ी कामिया,इंद्रिन् केरे स्वाद ।हीरा खोया हाथ सो,जनम गंवाया बाद !!🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹अर्थात ,*" इन्द्रियों के स्वाद में पड़कर कामी व्यक्तियों ने भक्ति को विनष्ट कर ड

व्यसन

25 अक्टूबर 2022
1
2

केशव एक 20 वर्ष का सुंदर स्मार्ट नवजवान लड़का है, कहने को तो पढ़ने जाता है, पर 12th क्लास में पिछले 3 साल से फेल हो रहा है,जबकि वो 10th में डिस्ट्रिक्ट टॉपर रहा है,और उसके मां बाप ने उसके बारे मे बड़े

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए