shabd-logo

✨𝑻𝒘𝒊𝒏𝒌𝒂𝒍𝒆 𝒌....🖊️ के बारे में

I am student AllONE....🖤 ᵇᵉ ᵃˡˡᵒⁿᵉ ⁱᵗ'ˢ ᵖᵉᵃᶜᵉᶠᵘˡ....❤️ ➜𝗭𝗶𝗻𝗱𝗮𝗴𝗶.. 𝗦𝗵𝗶𝘃..🌙 🤍..मोहब्बत.. महादेव..🤍 🖤..𝗝𝗮𝗶 𝘀𝗵𝗿𝗲𝗲 𝗠𝗮𝗵𝗮𝗸𝗮𝗹..🖤 पढ़ना लिखना दोनो ही हमारी जिंदगी है!❤️ लेखन...🖋️📖 लिखना सौख है बस... लिखने से एक सुकून मिलता है.. ..अल्फ़ाज़ कुछ अनकहे से.. ... हमारे कुछ लफ्जों से न करना हमारे किरदार का फ़ैसला... हमको पढ़ना जीतना ही आसान है..समझना उतना ही मुश्किल..📝 हमको पढ़ने की कोशिश बिल्कुल भी मत करना.. वरना उलझ कर रह जायोगे पर पढ़ ना पयोगे...🔻 हां पढ़ना ही हो तो हमारी शायरी को पढ़ लेना.. लफ्ज़ बेमिसाल ना सही... पर जज़्बात लाजवाब जरूर मिलेंगे..♦️ अल्फाज़ हमारे... एहसास आपके 💫 जस्बात मन के...🍁 शब्दों को लिखती हूं दिल के कलम से✍🏻....🌹🌹

Other Language Profiles

पुरस्कार और सम्मान

prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-08-10
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-04-14
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-12-29
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-12-14

✨𝑻𝒘𝒊𝒏𝒌𝒂𝒍𝒆 𝒌....🖊️ की पुस्तकें

सफ़र जिंदगी का...

सफ़र जिंदगी का...

🥀🥀🥀🥀अदादत बदल सी गई है.................अब वक्त के साथ अब हिम्मत नहीं होती..................किसी को अपना बनाने की........................!!!!🥀💔🥺 🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🌹चलती जिंदगी में ठहरे हुए से हे हम 🌿यूं तो लोगों का मेला है 🌹पर तन्हा है हम 🌿यूं ना पूछो कितनो को

19 पाठक
31 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 46/-

सफ़र जिंदगी का...

सफ़र जिंदगी का...

🥀🥀🥀🥀अदादत बदल सी गई है.................अब वक्त के साथ अब हिम्मत नहीं होती..................किसी को अपना बनाने की........................!!!!🥀💔🥺 🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🌹चलती जिंदगी में ठहरे हुए से हे हम 🌿यूं तो लोगों का मेला है 🌹पर तन्हा है हम 🌿यूं ना पूछो कितनो को

19 पाठक
31 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 46/-

खूबसूरत एहसास...🌹🌹

खूबसूरत एहसास...🌹🌹

कुछ अनकहे से एहसास.. दिल से दिल तक ❤️

15 पाठक
42 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 41/-

खूबसूरत एहसास...🌹🌹

खूबसूरत एहसास...🌹🌹

कुछ अनकहे से एहसास.. दिल से दिल तक ❤️

15 पाठक
42 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 41/-

लफ्जों के पंख...🕊️

लफ्जों के पंख...🕊️

खामोशियां......अल्फाजों की दुनियां..🍁

12 पाठक
51 रचनाएँ
3 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

लफ्जों के पंख...🕊️

लफ्जों के पंख...🕊️

खामोशियां......अल्फाजों की दुनियां..🍁

12 पाठक
51 रचनाएँ
3 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

लोगो की सोच

लोगो की सोच

लोगो की सोच को बदलना होगा।

9 पाठक
3 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 20/-

लोगो की सोच

लोगो की सोच

लोगो की सोच को बदलना होगा।

9 पाठक
3 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 20/-

प्रयागी मुस्कान....❤️

प्रयागी मुस्कान....❤️

प्रयागी मुस्कान....❤️इक अनकही मुहब्बत.....🥀

8 पाठक
41 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 126/-

प्रयागी मुस्कान....❤️

प्रयागी मुस्कान....❤️

प्रयागी मुस्कान....❤️इक अनकही मुहब्बत.....🥀

8 पाठक
41 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 126/-

वादों की डोर (अटूट बंधन)

वादों की डोर (अटूट बंधन)

वादों से जुड़ा रिश्ता.... एक अटूट बंधन!

8 पाठक
20 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 113/-

वादों की डोर (अटूट बंधन)

वादों की डोर (अटूट बंधन)

वादों से जुड़ा रिश्ता.... एक अटूट बंधन!

8 पाठक
20 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 113/-

ख़ामोश सी जिंदगी...🖤

ख़ामोश सी जिंदगी...🖤

कुछ एहसास अनकहे से...🖤

8 पाठक
49 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 60/-

ख़ामोश सी जिंदगी...🖤

ख़ामोश सी जिंदगी...🖤

कुछ एहसास अनकहे से...🖤

8 पाठक
49 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 60/-

तलाश–ए–सुकुन

तलाश–ए–सुकुन

इक तलाश सुकुन की...

6 पाठक
6 रचनाएँ

निःशुल्क

तलाश–ए–सुकुन

तलाश–ए–सुकुन

इक तलाश सुकुन की...

6 पाठक
6 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरे शब्द... मेरे एहसास...🖤

मेरे शब्द... मेरे एहसास...🖤

जिंदगी के कलम से...🥀

4 पाठक
25 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 33/-

मेरे शब्द... मेरे एहसास...🖤

मेरे शब्द... मेरे एहसास...🖤

जिंदगी के कलम से...🥀

4 पाठक
25 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 33/-

और देखे

✨𝑻𝒘𝒊𝒏𝒌𝒂𝒍𝒆 𝒌....🖊️ के लेख

महादेव....❤️

18 दिसम्बर 2023
1
0

महादेव.........😌उनका पता विचित्र है ,जैसे वो परिहास करें ,जहाँ कहीं देखूँ उनको ,कण कण में वही वास करें ...🌹हृदय - हृदय मे बसे हैं ,वो जाने कितने नाम धरे ,हर स्वास हर धड़कन में वो ,मन से बस वो&nb

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 41)

27 नवम्बर 2023
1
0

जानते क्या हो तम हमारी बेटी के बारे में जानना ही है तो अपनी मां सरिता सिंह से सुन लेना फिर आना बात करने बोल कर वो भारी कदमों से मुस्कान की ओर बढ़ते हैं और उसे अपने साथ ले कर बाहर आते हैं कार में देव ब

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 40)

20 नवम्बर 2023
1
0

वहीं वो आदमी एक नज़र रेयांश पे डाल मुस्कान का हाथ पकड़ उसे खींचते हुए आगे बढ़ने लगता है । .. तभी रेयांश किसी तरह ख़ुद को छुड़ाते हुए आगे बढ़ कर मुस्कान का हाथ पकड़ अपनी ओर खींच लेता है और उस आदमी

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 39)

17 नवम्बर 2023
1
0

आप दोनों का विवाह विधि का विधान था उस ऊपर वाले का आशीर्वाद है आप दोनों के रिश्ते पर भले ही आप दोनों के जीवन पर बहुत उतार चढ़ाव आयेंगे और आपके बिच भी बहुत अनबन होगी पर आप दोनों का बंधन टूट कर भी कभी नह

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 38)

8 नवम्बर 2023
0
0

कीर्ति जी, मुस्करा कर पिछे हट जाती हैं !पंडित जी ने विवाह की रस्में आगे बढ़ाई .... थोड़ी देर बाद पंडित जी एक दूसरे को वरमाला पहनाने को कहते हैं । दोनो वरमाला पहनाने के लिए खड़े होते हैं । और वरमा

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 37)

7 नवम्बर 2023
0
0

राधिका – पर दी यहां ???महिमा जी – अनिका है !राधिका – जी !बारात आ गई थी.....बारात को देख कर देव को एक झटका सा लगता है.............आगे............................दूल्हे के रूप में रेयांश को देख कर देव क

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 36)

29 अक्टूबर 2023
0
0

वो हॉस्पिटल से लौटते हुए ....समीर – ये क्या था ऐसे खुद को चोट पहुंचाना कब बंद करेगा तू , अगर मै थोड़ी देर से आता तो ?? कल तेरी शादी है यार और खुद को देख ये क्या हाल बना रखा है अपना ??रेयांश कुछ

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 35)

17 अक्टूबर 2023
1
0

क्यूं ऐसा होता है कि कभी कभी हमारी खुशी हमारे अपनो के दर्द की वजह बन जाती है ?? और ये दिल क्यूं उसी चीज की चाहत करता है जो उसे कभी मिल नही सकता ? क्यों भईया क्यों आप हमसे इतने दूर चले गए क्यूं?? क्या

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 34)

14 अक्टूबर 2023
1
0

हम इन सबसे जीतना दूर जाने की कोशिश कर रहे हैं महादेव वो हमारे उतने ही पास क्यों आते जा रहे है क्यों कर रहे हैं आप ऐसा हमारे साथ , क्यों , आखिर क्यों ?? –"बोल कर मुस्कान बेतहाशा रोने लगती जिसकी च

प्रयागी मुस्कान....❤️(पार्ट – 33)

12 अक्टूबर 2023
1
0

सरिता जी = बेटा कभी तो अपनी दादी से नॉर्मल बात कर लिया करो !कीर्ति जी , मुस्कुराते हुए = आप दोनों कभी नहीं सुधरने वाले !तभी पिछे से __ ये सुधर जाए तो बात ही क्या है ?? क्यूं सही कहा ना अनमोल जी ......

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए