shabd-logo

Dr.Jyoti Maheshwari के बारे में

Teaching

Other Language Profiles

पुरस्कार और सम्मान

prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-09-14
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-08-24
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-08-16
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-08-07
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-07-31
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-07-11
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-06-13
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-06-03
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-05-28
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-05-24
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-05-13
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-05-10
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-05-03
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-04-28
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2023-03-27

Dr.Jyoti Maheshwari की पुस्तकें

कुछ खुशी के पल

कुछ खुशी के पल

यह किताब मेरे रोज के लेखों का संग्रह है। लिखना मुझे अच्छा लगता है। इसलिए लिखती हूं।

97 पाठक
45 रचनाएँ

निःशुल्क

कुछ खुशी के पल

कुछ खुशी के पल

यह किताब मेरे रोज के लेखों का संग्रह है। लिखना मुझे अच्छा लगता है। इसलिए लिखती हूं।

97 पाठक
45 रचनाएँ

निःशुल्क

अपनो से अपनी बात

अपनो से अपनी बात

यह मेरा दैनिक लेखों का संग्रह हैं। रोज जो,लेख लिखूंगी वह इसमें संग्रहित कर रही हूं।

53 पाठक
18 रचनाएँ

निःशुल्क

अपनो से अपनी बात

अपनो से अपनी बात

यह मेरा दैनिक लेखों का संग्रह हैं। रोज जो,लेख लिखूंगी वह इसमें संग्रहित कर रही हूं।

53 पाठक
18 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरी दैनंदिनी

मेरी दैनंदिनी

लिखना मेरा पैशन है। मुझे लिखना पसंद है इसलिए लिखती हूं। लिखना मेरी पहचान है। मेरे दैनिक लेख मैं इस किताब में संग्रहित करूंगी।

43 पाठक
20 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरी दैनंदिनी

मेरी दैनंदिनी

लिखना मेरा पैशन है। मुझे लिखना पसंद है इसलिए लिखती हूं। लिखना मेरी पहचान है। मेरे दैनिक लेख मैं इस किताब में संग्रहित करूंगी।

43 पाठक
20 रचनाएँ

निःशुल्क

कहीं धूप कहीं छाव

कहीं धूप कहीं छाव

ये किताब मेरे रोज के लेखो का संग्रह है। जिंदगी में खुशी भी है और गम भी। आप इसमें से अपने लिए क्या लेते हैं? यह आप पर निर्भर करता है।

37 पाठक
30 रचनाएँ

निःशुल्क

कहीं धूप कहीं छाव

कहीं धूप कहीं छाव

ये किताब मेरे रोज के लेखो का संग्रह है। जिंदगी में खुशी भी है और गम भी। आप इसमें से अपने लिए क्या लेते हैं? यह आप पर निर्भर करता है।

37 पाठक
30 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरे दैनिक लेख

मेरे दैनिक लेख

मेरे दैनिक लेख जो मैं रोज लिखती हूं इस किताब में संग्रहित कर रही हूं। आशा है आपको पसंद आएंगे। कुछ कोशिश की है कहने की। कुछ कोशिश की है समझने की।

37 पाठक
20 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरे दैनिक लेख

मेरे दैनिक लेख

मेरे दैनिक लेख जो मैं रोज लिखती हूं इस किताब में संग्रहित कर रही हूं। आशा है आपको पसंद आएंगे। कुछ कोशिश की है कहने की। कुछ कोशिश की है समझने की।

37 पाठक
20 रचनाएँ

निःशुल्क

कुछ हसीन ख्वाब

कुछ हसीन ख्वाब

यह किताब मेरे रोज के लेखों का संग्रह है। यह मेरे मन की आवाज है। यह मेरी लिखने की प्रेरणा है। यह मुझे मुझ को समझने में मदद करती है। लिखना मेरा पैशन है। यह मेरी खुद की पहचान है।

29 पाठक
27 रचनाएँ

निःशुल्क

कुछ हसीन ख्वाब

कुछ हसीन ख्वाब

यह किताब मेरे रोज के लेखों का संग्रह है। यह मेरे मन की आवाज है। यह मेरी लिखने की प्रेरणा है। यह मुझे मुझ को समझने में मदद करती है। लिखना मेरा पैशन है। यह मेरी खुद की पहचान है।

29 पाठक
27 रचनाएँ

निःशुल्क

सपनों की उड़ान

सपनों की उड़ान

मेरी ये किताब सपनों की उड़ान उन लड़कियों को समर्पित है जो अपनी मेहनत और प्रतिभा के बल पर समाज में अपना नया मुकाम हासिल करती हैं और अपने सपनों को पूरा करती हैं। यह किताब उन लड़कियों की व्यथा भी है जो अपने सपने पूरा करना चाहती हैं लेकिन समाज की बंदिशों

13 पाठक
9 रचनाएँ

निःशुल्क

सपनों की उड़ान

सपनों की उड़ान

मेरी ये किताब सपनों की उड़ान उन लड़कियों को समर्पित है जो अपनी मेहनत और प्रतिभा के बल पर समाज में अपना नया मुकाम हासिल करती हैं और अपने सपनों को पूरा करती हैं। यह किताब उन लड़कियों की व्यथा भी है जो अपने सपने पूरा करना चाहती हैं लेकिन समाज की बंदिशों

13 पाठक
9 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरे कुछ कहे अनकहे गीत

मेरे कुछ कहे अनकहे गीत

यह किताब मेरे गीतों का संग्रह है। जो मैंने अपने आप को व्यक्त करने के लिए लिखें है। शब्दों को, दैनिक समस्याओं को व्यक्त करती यह रचना मैं आपके सामने प्रस्तुत कर रही हूं। मैं चाहती हूं कि आप इसकी समीक्षा लिखें।

11 पाठक
10 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 16/-

मेरे कुछ कहे अनकहे गीत

मेरे कुछ कहे अनकहे गीत

यह किताब मेरे गीतों का संग्रह है। जो मैंने अपने आप को व्यक्त करने के लिए लिखें है। शब्दों को, दैनिक समस्याओं को व्यक्त करती यह रचना मैं आपके सामने प्रस्तुत कर रही हूं। मैं चाहती हूं कि आप इसकी समीक्षा लिखें।

11 पाठक
10 रचनाएँ
2 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 16/-

Jyotimaheshwari की डायरी

Jyotimaheshwari की डायरी

फुर्सत के कुछ पलों में अपने आप को व्यक्त करने का माध्यम है यह। जिंदगी के कुछ अनदेखे अनकहे शब्दों को अभिव्यक्त करने का माध्यम है यह। जब आप बहुत खुश होते हैं या बहुत दुखी होते हैं तो अपने आप से बात करने का माध्यम है यह। समाज में हो रही उथल-पुथल का आपके

7 पाठक
23 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 40/-

Jyotimaheshwari की डायरी

Jyotimaheshwari की डायरी

फुर्सत के कुछ पलों में अपने आप को व्यक्त करने का माध्यम है यह। जिंदगी के कुछ अनदेखे अनकहे शब्दों को अभिव्यक्त करने का माध्यम है यह। जब आप बहुत खुश होते हैं या बहुत दुखी होते हैं तो अपने आप से बात करने का माध्यम है यह। समाज में हो रही उथल-पुथल का आपके

7 पाठक
23 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 40/-

आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता

आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता

यह किताब गीता दर्शन पर आधारित है। आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता एक ऐसा विषय है जो हमें सोचने पर मजबूर करता है की गीता केबल महाभारत के युद्ध क्षेत्र का वर्णन नहीं है, अर्जुन और कृष्ण के मध्य संवाद नहीं है बल्कि युद्ध क्षेत्र में अर्जुन के मन

निःशुल्क

आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता

आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता

यह किताब गीता दर्शन पर आधारित है। आज के युग में गीता दर्शन की प्रासंगिकता एक ऐसा विषय है जो हमें सोचने पर मजबूर करता है की गीता केबल महाभारत के युद्ध क्षेत्र का वर्णन नहीं है, अर्जुन और कृष्ण के मध्य संवाद नहीं है बल्कि युद्ध क्षेत्र में अर्जुन के मन

निःशुल्क

Dr.Jyoti Maheshwari के लेख

गणतंत्र दिवस

29 जनवरी 2024
0
0

गणतंत्र दिवस स्कूल में बच्चों के साथ मनाना हमेशा ही खुशी और उल्लास से भर देता है। उन्हें उत्साहित खुश देखकर शायद हमें भी गणतंत्र दिवस सार्थक लगता है। झंडारोहण का कार्यक्रम, बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक

अयोध्या में राम मंदिर

21 जनवरी 2024
0
0

कल 22 तारीख को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम है। शीत लहर चल रही है पर उससे ज्यादा राम लहर है। 500 वर्षों बाद रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। यह सिर्फ राम मंदिर की प्रति

मकर संक्रांति

16 जनवरी 2024
0
1

सूर्य का किसी राशि विशेष पर भ्रमण करना संक्रांति कहलाता है. सूर्य हर माह में राशि का परिवर्तन करता है, इसलिए कुल मिलाकर वर्ष में बारह संक्रांतियां होती हैं. लेकिन इमें से दो संक्रांतियां सर्वाधिक महत्

जिंदगी रूकती नहीं है

10 जनवरी 2024
0
0

कुछ ख्वाबों के टूटने सेकुछ लोगों के जाने सेजिंदगी रूकती नहीं हैचलती रहती है वह अविरलकुछ मुश्किलों के आने सेबहुत कुछ खो जाने सेजिंदगी रूकती नहीं हैचलती रहती है वह अविरलकुछ कांटों के चुभ जाने सेकुछ खून

विश्व हिंदी दिवस

10 जनवरी 2024
1
2

आज विश्व हिंदी दिवस की सभी को शुभकामनाएं। जब हिंदी के बारे में सोचती हूं तो एक गाना याद आता है हिंदी भारत मां की बिंदी हिंदी हिंदुस्तान है। हिंदी वह भाषा है जो हमारे अंतर्मन की भावों को व्यक्त करने का

सर्द रात

3 जनवरी 2024
0
0

कुछ सर्द रातों में खुशियां ढूंढनेनव वर्ष मनाने गर्म कपड़ों से लदे हुएहोटल में इकट्ठे हुए कुछ लोगवे थिरक रहे थे डीजे की धुन परपर सड़क के दूसरी और कुछ लोगढूंढ रहे थे कुछ लकड़ियांठिठुर रहे थे सर्द हवाओं

हिट एंड रन कानून

3 जनवरी 2024
0
0

हिट एंड रन का मतलब है तेज और लापरवाही से गाड़ी चलाने के चलते किसी व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान पहुंचाना और फिर भाग जाना। भारतीय न्याय संहिता की धारा 104 में हिट एन्ड रन का जिक्र किया गया है जिसम

नव वर्ष 2024

31 दिसम्बर 2023
0
1

आप सभी को नव वर्ष की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। हर नया वर्ष कुछ उम्मीद और सौगात लेकर आता है। वही पुराना वर्ष कुछ अच्छी कुछ बुरी स्मृतियां दे जाता है। हम सभी नववर्ष का स्वागत करने को उत्सुक हैं। हम आशा करें

बिगड़ते रिश्ते

23 सितम्बर 2023
0
0

प्रत्येक व्यक्ति अपनी जिंदगी में बहुत सारे लोगों से मिलता है जुलता है और उनसे रिश्तों की डोर में बंधा रहता है। वह रिश्ता परिवार के सदस्यों का जैसे भाई-बहन चाचा ताऊ मम्मी पापा मौसी या फिर दोस्तों या फि

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस

21 सितम्बर 2023
1
2

प्रत्येक व्यक्ति को यह समझना होगा कि इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म है। मानव कल्याण की सेवा से बढ़कर कोई धर्म नहीं है। भाषा, संस्कृति, पहनावे भिन्न-भिन्न हो सकते हैं, लेकिन विश्व के कल्याण का मार्ग एक ही

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए