shabd-logo

घर -घर की कहानी भाग - 70

21 जुलाई 2023

4 बार देखा गया 4
empty-viewयह लेख अभी आपके लिए उपलब्ध नहीं है कृपया इस पुस्तक को खरीदिये ताकि आप यह लेख को पढ़ सकें
80
रचनाएँ
घर-घर की कहानी
5.0
मनुष्य की ज़िंदगी बड़ी ही कठोर और संघर्षशील होती है । आज के परिवार विखंडन का कारण किसी को स्पष्ट तौर पर पता ही नहीं हो प रही है । एक तरफ तकनीक की दुनिया में सोशल मीडिया और मनोरंजन की दुनिया मई व्यस्त होती हुई जिंदगियाँ और दूसरी तरफ भारतीय संस्कृति और संस्कारों को भूलते हुए लोग पाश्चात्य सभ्यता के पूरी तरह गुलाम हो गए है । घर मे सास बहू के बढ़ते हुए झगड़े दहेज और आपसी ईर्ष्या से ही नहीं बल्कि घर की असमानता भी परिवार मैं तूफान मचा कर रख देती है ।
1

घर-घर की कहानी भाग-1

6 मई 2023
10
0
0

“मानव से परिवार बना,मानव से बना घर-बार। मानव से जाति धर्म बने,मानव से बने रिश्तेदार। समाज बने हैं मानव से, समय ने इनको बदल दिया। गांव,शहर,तहसील,खंड बने,प्रांत,देश से विश्व बना दिया”। मनुष्य एक सामाजिक

2

घर घर की कहानी भाग-2

6 मई 2023
5
0
0

घर घर की कहानी रचना एक परिवार के हर मनुष्य के किरदार ओर उनकी कमजोरियों को बताती है । “हर समाज और हर घर में समाज के बड़े बुजुर्ग लोगों के द्वारा जो भी कह दिया जाता था। वह पत्थर की लकीर बन जाती थी” उस स

3

घर-र की कहानी भाग -3

8 मई 2023
4
0
0

"मेरी परिवार के हर सदस्य के मन में खुशी थी और मेरी माता सभी लोगों के लिए चाय बना रही थी। और मेरे पापा दुकान से कुछ सामान खरीद कर लाये।कुछ समय बाद सभी लोगों को चाय नाश्ता दिया गया लगभग दो घंटों तक

4

घर-घर की कहानी भाग-4

27 मई 2023
0
0
0

शरत और सोनू दोनों ही अपनी बाल्यावस्था की जिंदगी जी रहे थे।शरत- इस समय हमारी पढ़ाई करने का समय था और पढ़ाई के साथ-साथ खेल कूद और मौज मस्ती करने का समय था।लेकिन जिस समाज में हम रहते हैं वह समाज हमारे वि

5

घर-घर की कहानी भाग -5

27 मई 2023
0
0
0

शरत-हमारी सगाई पक्की हो गई थी। हमारे घर खुशियों के रंगों से सराबोर हो गया था।रिश्ते करने वाले लोगों के चले जाने के बाद भी हमारे कुटुम्ब, परिवार और गांव के लोग बैठकर आपस में बातें कर रहे थे

6

घर-घर की कहानी भाग -6

27 मई 2023
0
0
0

सोनू:- मेरे कहने का मेरे माता-पिता के ऊपर कोई भी असर नहीं हुआ।असर भी होता क्यों? क्योंकि मेरे माता-पिता ग्रामीण विचारों से पूरी तरह भरपूर थे। जिनमें पढाई-लिखाई का प्रभाव बिलकुल शून्य था। इसके अलावा पढ

7

घर-घर की कहानी भाग -7

15 जून 2023
1
0
0

शरत:-मैने सोनू भैया को करीब से देखा था वह घर-गृहस्थी की फ़ालतू की बातों पर कतई ध्यान नहीं देता था। ध्यान देता भी कहां से शादी का चोला पहनाकर उसे बड़ा बनाया जा रहा था।सोनू:-लेकिन मैं अभी भी अपनी बचपन क

8

घर-घर की कहानी भाग-8

15 जून 2023
2
1
0

सोनू:-घर में सभी तैयारियां बहुत ही जोर शोर पर चल रही थी चारों तरफ खुशियां ही खुशियां मनाई जा रही थी।लेकिन मैं इस शादी से पूरी तरह खुश नहीं था क्योंकि मुझे शादी से ज्यादा मेरे भविष्य की चिंता थी और यह

9

घर-घर की कहानी भाग -9

22 जून 2023
0
0
0

शरत:- मैं शादी को लेकर बहुत ही उत्साहित था लेकिन मेरे भैय्या सोनू के चेहरे पर झूठी मुस्कान थी वह अपने अंदर के दुख को जाहिर नहीं कर सकता है।मुझे तो मजा आ रहा था बचपन की जिंदगी और नई-नई चीजें देखने को म

10

घर-घर की कहानी भाग -10

22 जून 2023
0
0
0

मम्मी :- अरे! सोनू और शरत, तुम दोनों कहां चले गए,? कहीं नजर ही नहीं आ रहे हैं।शरत:-मै कमरे में कुछ दोस्तों के साथ बैठकर बातें कर रहा था। इस समय मेरे पास दोस्तों की कमी नहीं थी। इस समय मैं दोस्तों

11

घर-घर की कहानी भाग -11

22 जून 2023
0
0
0

शरत:-गाडी के आते ही सभी लोगों को पता चल गया कि हमारे लग्न देने वाले अतिथियों के आगमन का इंतजार था वे आ चुके हैं।सभी लोगों में हड़बड़ी मंच गई कुछ लोग उनके स्वागत के लिए गेट पर पहुंच गए।सभी लोगों में एक

12

घर-घर की कहानी भाग -12

22 जून 2023
1
0
0

शादियां के लिए एक प्रसिद्ध कहावत है कि चाहे कुछ हो लेकिन ब्याह के गीत सभी गाये जाते हैं। सभी लोग खुशियां मना रहे थे। इस समय तक घर परिवार के लोगों में भी खुशी का माहौल था।सभी लोगों के मन में जोश और उत्

13

घर-घर की कहानी भाग-13

22 जून 2023
0
0
0

गांव हो या शहर , हिन्दू हो या मुस्लिम, चाहे कोई भी जाति क्यों ना हो??????????किसी भी शुभ कार्य के समय घर, परिवार, रिश्तेदारों के बीच मनमुटाव होना आम बात है क्योंकि लोगों की सोच बड़ी ही विचित्र होती है

14

घर-घर की कहानी भाग-14

22 जून 2023
0
0
0

रमेश:- जैसे ही हमने उन्हें बोला, उन लोगों ने उस छोटी सी मासूम लड़की को तैयार करना शुरू किया।वह बेचारी रोने लग रही थी क्योंकि उसे जबरदस्ती सजाया जा रहा था।उसके हाथ में लगी चॉकलेट की थैली भी छीन ली गई थ

15

घर-घर की कहानी भाग-15

22 जून 2023
0
0
0

एक तरफ शरत की शादी होने के बाद वह अपनी ससुराल में बिंदास जिंदगी के साथ बच्चों के साथ खेल रहा था और दूसरी तरफ सोनू की निकासी का सुंदर दृश्य चल रहा था लोगों के मन में बहुत प्रसन्नता थी।सबसे ज्यादा प्रसन

16

घर-घर की कहानी भाग-16

2 जुलाई 2023
0
0
0

लड़की की विदाई के लिए सारी तैयारियां हो गई लड़की को सजा-धजाकर घर बाहर निकाल लिया जा रहा था । सभी लोगों की आंखों में आसूं थे। ममता ने अपने पंद्रह साल मां बाप के हाथों ही हाथों में निकाले । वह पढ़

17

घर-घर की कहानी भाग-17

7 जुलाई 2023
0
0
0

शरत और सोनू का घर जोश, उत्साह से भरा हुआ था।सभी लोगों को नववधू को आने का इंतजार था।वहां पर उपस्थित रिश्तेदार और गांव के लोग इंतजार की घड़ियों में नववधू की बाट जोह रहे थे।सभी के मन में उम्मीदें थीं कि

18

घर-घर की कहानी भाग-18

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू :- मैं अभी सही से प्रेम की परिभाषा भी नहीं समझता था और मुझे प्यार के बंधन को निभाने का नायक बना दिया था। हर तरफ मेरे घर की सारी स्त्रियां इकट्ठी हो रही थी और वे कोई नई योजना तैयार कर रही थी।

19

घर-घर की कहानी भाग -19

7 जुलाई 2023
0
0
0

ममता:- हम दोनों अपने भविष्य के सपने सजा रहे थे और प्रेम की दुनिया में कदम रख रहे थे।वह अंधेरी रात मेरे लिए बहुत ही सुन्दर रात थी जब मैं अपने पति के प्रेम में डूबी हुई थी।सोनू मेरी जिंदगी को प्रेम के र

20

घर-घर की कहानी भाग-20

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- ममता और शीला हमारे घर से चली गई। उन्होंने मेरी जिंदगी में आकर बहुत ही खुशियां दी थी।मुझे ममता एक सुशील और संस्कारों वाली लड़की लग रही थी। मिलन की पहली रात में मैंने उसे जो भी बताया उसने खु

21

घर-घर की कहानी भाग-21

7 जुलाई 2023
0
0
0

शरत:- मैंने शादी में खुब आनंद लिया क्योंकि मुझे किसी भी चीज की चिंता नहीं और एक बालक को शादी के समय बहुत ही लाड-प्यार मिलता है।मैं पहले से ज्यादा खुश इसलिए था क्योंकि मुझे इस समय खूब नई-नई चीजें मिली

22

घर-घर की कहानी भाग-22

7 जुलाई 2023
0
0
0

""बच्चे होते हैं दिल के सच्चे"" सोनू:- बच्चों के चेहरे से हमेशा खुशियां और सच्चाई झलकती है, हमारे लिए शरत इसका साक्षात उदाहरण था। हालांकि अभी मैं भी चौदह साल का बच्चा ही था लेकिन ईश्वर की असीम कृपा और

23

घर-घर की कहानी भाग-23

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-परीक्षा हो जाने के बाद हम लोगों की गर्मी की छुट्टियाँ शुरू होने वाली थी। मेरे सभी दोस्तों ने कहा की हम कहीं घूमने का प्लान बनाते है इस बात के लिए सभी दोस्त राजी हो गए और हमने प्लान के अनुसार दिन

24

घर-घर की कहानी भाग-24

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-मौज और मस्ती की दुनिया अपने बराबर के दोस्तों के साथ ही हो सकती है जिसके साथ हम खुलकर बातें कर सकते हैं ।हम घर से निकले हमें एकदम सुनसान सड़क दिखाई दे रही इस समय सड़क पर कोई ट्रेफिक नहीं था इसलिए

25

घर-घर की कहानी भाग-25

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-रात को शरत हो गया था लेकिन जैसे ही सुबह उठा और उसने देखा कि मैं आ गया हूं तो वह मेरे मम्मी पापा से पूछने लगा की सोनू भैया मेरे लिए क्या लेकर आया है ,मेरी मम्मी ने उसे तू तेरे भैया से जाकर पूछ ले

26

घर-घर की कहानी भाग-26

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-मेरी परीक्षाएं,मेरी शादी और मेरे दोस्तों के साथ घूमना सभी कार्य एक साथ होने के कारण मेरे पास वक्त नहीं था इसलिए अभी ममता अपने पीहर में ही रह रही थी ।रवि की फसल के कटने का समय आ गया इसलिए मेरी मा

27

घर-घर की कहानी भाग-27

7 जुलाई 2023
0
0
0

""हीरे की प्रकृति हमेशा चमकने की है उसे इस बात से कोई मतलब नहीं होता है कि वह हीरों के बीच रखा हुआ है या धूल के बीच में पड़ा हुआ है,वह सदैव अपनी चमक नहीं छोड़ता है।लेकिन उसे परखने वाले मनुष्य की जरूरत

28

घर-घर की कहानी भाग-28

7 जुलाई 2023
0
0
0

एक ही घर में रहने वाले संयुक्त परिवार के हर व्यक्ति की अलग -अलग भूमिका होती है और उसे ईमानदारी से निभानें की हर व्यक्ति की जिम्मेदारी होती है। यदि लोग अपनी जिम्मेदारी पूरी ईमानदारी से नहीं निभाते हैं

29

घर-घर की कहानी भाग-29

7 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- मेरे रिजल्ट को देखकर मेरे मम्मी पापा और मेरे परिवार वालों को खुशी और दुख दोनों भाव ही महसूस हुए थे।खुशी इस बात की थी कि मैं पूरे गांव में पढ़ने वाले दसवीं के लड़कों में अव्वल हूं इससे पहले भी ग

30

घर-घर की कहानी भाग-30

7 जुलाई 2023
0
0
0

ममता ने खाना-पीना बना लिया और हम सभी लोगों ने खाना खाया।ममता ने अभी तक खाना नहीं खाया था क्योंकि हमारे समाज में एक अनोखी परंपरा होती है कि स्त्रियां/गृहणी सभी लोगों के खाना खा लेने के बाद खाना खाती है

31

घर-घर की कहानी भाग -32

14 जुलाई 2023
0
0
0

ममता:- मेरा अतीत मेरे लिए बस यादें छोड़कर चला गया जब मैं बहक गई थी और मैं समझी कि मेरी जिंदगी एक स्वर्ग की दुनिया जैसी होगी। लेकिन यह धीरे-धीरे दुखों की गलियों की तरफ मुड़ती जा रही है।मेरी भावनाओं को

32

घर-घर की कहानी भाग -33

14 जुलाई 2023
0
0
0

चुगलखोर और निंदा करने वाले लोगों से सावधान रहना चाहिए और उनकी बातों पर विश्वास करने के लिए पहले उनकी बातों को परखने की आवश्यकता है।ये लोग गांव और शहर के भोले-भाले लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनके घर

33

घर-घर की कहानी भाग -34

14 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-जिंदगी के हर कदम पर संकटों का जाल होता है जिसे पार करने के लिए हिम्मत और विश्वास पैदा करना जरुरी है ,लेकिन मुझे मेरे विश्वास को स्थिर करना कठिन हो रहा था क्योंकि मुझे पता था कि बुरी घड़ी में कोई

34

घर-घर की कहानी भाग-31

14 जुलाई 2023
0
0
0

एक अभावग्रस्त और सुविधाओं के लिए तरसती जिंदगी जिनके जीवन में कदम-कदम पर कांटे होते हैं उसकी जिंदगी में सफ़लता दुनिया की सबसे बड़ी दौलत होती है जिसने अपने चुनौतियों भरे जीवन में भी हार नहीं मानते हुए ल

35

घर-घर की कहानी भाग -35

14 जुलाई 2023
1
0
0

सोनू:- मेरे लिए बड़ा कठिन हो रहा था कि मैं किस तरह अपनी जिंदगी के फैसले करूं। दिमाग और जज्बा मेरे अंदर बसता था लेकिन मेरे लिए धन का अभाव एक बहुत बड़ी समस्या बनाकर सामने आ रहा था।मेरे चाचाजी ने मुझे सम

36

घर-घर की कहानी भाग -36

14 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- शादी करने के बाद मैं बेफिजूल में संकट में फंस चुका था, दकियानूसी विचारों के साथ आधुनिक विचारों की लड़ाई थी।जब एक स्त्री का दूसरी स्त्री के विरूद्ध संघर्ष करने के लिए उतारू हो जाती है तो वह रिश्

37

घर-घर की कहानी भाग-37

14 जुलाई 2023
0
0
0

विनय:-कोई बात नहीं सोनू भाई तुम हताश मत होना।""समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी भी नहीं मिलता है।""यह सब किस्मत का खेल है तुम मेहनत करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हो एक दिन तुम्हारी मेहनत रंग लाएगी।

38

घर-घर की कहानी भाग -38

14 जुलाई 2023
0
0
0

"संघर्ष ना आए जिस राह में,वह मंजिल मेरा परिणाम नहीं।संघर्षों भरी राह तय करना , जिंदगी की मंजिल के लिए आसान नहीं।जो आसानी से पथ तय हो जाये, वह तेरी जिंदगी को एक दिन मुसीबत बना देगा।जिस दिन आयेंगे राह म

39

घर-घर की कहानी भाग-39

14 जुलाई 2023
0
0
0

पिछले भाग का लगातार -------------"जहां कलह का निवास है वहां शांति नहीं हो सकती।जहां असत्य है वहां सत्य नहीं हो सकती।यह तराजू के दो पलड़ों का भार है ।जहां एक के अधिक होने से दूसरे की कमी होती।"अविराम य

40

घर-घर की कहानी भाग -40

14 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- ममता और मेरी मां के बीच की लड़ाई मेरे लिए बहुत बड़ी मुसीबत बन गई थी।मेरे पिता ने मुझे आश्वासन दिया कि तुम चिंता मत करो यदि वह कुलक्षिणी और कुसंस्कारी लड़की नहीं आयेगी तो तुम्हारी दूसरी शादी करव

41

घर-घर की कहानी भाग-41

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-ममता अपने मायके में अपना वक्त गुजार रही थी और मैं उसकी जुदाई नहीं झेल पा रहा था। हमारी इस दुनिया का सबसे बड़ा किरण हमारे पास रूपये का अभाव था। इस समय मैं अपनी पढ़ाई में व्यस्त था और मुझे पढ

42

घर-घर की कहानी भाग -42

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- मेरे पिता आज सभी के ऊपर गुस्सा हो रहे थे। उनकी गलत आदतें उनके परिवार को ग़लत दिशा की तरफ ले जा रहे थे।जब भी मेरे पापा को ग़लत आदतें छोड़ने के लिए कोई कहता था,वे उनके ऊपर बुरी तरह से बिफर जाते थ

43

घर-घर की कहानी भाग -43

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- मेरे पिता घर की जिम्मेदारियों को निभाने में असफल हो रहे थे क्योंकि न तो उनके पास कमाई बची और न उनके भविष्य में उनकी पैदा की गई समस्याओं के समाधान नजर आ रहे थे।मेरे पूरे दो महीने खत्म होने वाले

44

घर-घर की कहानी भाग -44

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के घर से चले जाने के बाद उसकी मां बहुत दुखी हुई क्योंकि उसे यह दुख अखरने लगता था। पैसे की जरूरत के कारण उसके बेटे को घर पर इंतजार करना पड़ता था।सोनू की मम्मी:- हाय राम हमारी तो किस्मत फूट ग

45

घर-घर की कहानी भाग-45

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के पापा आज कहीं जाने वाले थे और सोनू की मम्मी इसी छानबीन में लगी हुई थी कि आखिरकार कहां जा रहा है ,जो व्यक्ति पिछले दस दिनों से नहाया नहीं है वह आज बड़े चाव से नहा धोकर तैयार हो रहा है। सोनू

46

घर-घर की कहानी भाग -46

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू की मम्मी बड़ी परेशान थी, वह हमेशा एक ही चिंता में रहती थी कि इसकी सट्टे की गंदी आदत को कब दूर किया जाए। सोनू के पापा:- मैं चाय के ढाबे पर बैठकर चाय पी रहा था ,वहां पर मेरा कोई एक दोस्त नहीं था ।

47

घर -घर की कहानी भाग -47

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के पापा:-कहते हैं कि जब मन में कुछ खुशियों का सागर हो तो उस वक्त मन के आने वाले ज्वार-भाटे इंतजार की घड़ियों को कोसते हैं। हम तीनों लोगों की तमन्नाएं हृदय के अंदर ही अंदर उछाल ले रही थी। हमें व

48

घर -घर की कहानी भाग -48

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू की मम्मी:- आज मेरी खुशी का कारण बहुत दिनों के बाद लक्ष्मी का प्रवेश हुआ था। मुझे इस बात की कोई परवाह नहीं थी कि जो धन हमारे घर आया है वह गलता तरीके से आया है। मनुष्य कितना लालची होता है जो आते

49

घर -घर की कहानी भाग -49

21 जुलाई 2023
0
0
0

शाम का समय था और सूर्यास्त का समय हो गया लोग अपने इस दिन के अंतिम क्षणों को घर के आगमन के साथ निकाल रहे थे। हम पक्षी भी दाना पानी लेकर अपने घौसलों की तरह पंख पसार रहे थे। सोनू के पापा का घर में इंतज

50

घर -घर की कहानी भाग -50

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के पापा :-आगली सुबह मैं जागा, मुझे ममता को लाने की चिंता थी इसलिए मुझे जल्दी से तैयार होना था। मेरे लिए यह शुभ दिन था कि मेरे स्नान करने का उदय हो गया। मै मल-मलकर स्नान करने लगा और नये कपडे पहनक

51

घर -घर की कहानी भाग -51

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू घर पर कुछ दिनो के लिए रूका और कुछ दिन बाद वह अपने कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए चला गया। "घर में कितना भी बैर भाव क्यों ना हो।जब किसी घर में किसी भी नये मेहमान का आगमन अर्थात किसी भी घर में बच्चे

52

घर -घर की कहानी भाग -52

21 जुलाई 2023
0
0
0

घर में टिंकू आने बाद घर की खुशियां तो बढ़ गई लेकिन घर की एक स्थायी समस्या का समाधान अभी तक कुछ नहीं निकला। सभी लोगों को इस बात का शक हो गया कि सामान्य तरीके से इस तरह किसी की हालत खराब नहीं हो सकती ह

53

घर -घर की कहानी भाग -53

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के पापा:-हम सभी लोगों के दर्द का बस एक ही कारण था प्रेत की नाराज़गी, जिसके कारण भूतों की परछाईं हमारे ऊपर पड़ने लगी थी। मेरे पिता बड़े ही धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति थे और धर्म के वेद,पुराण, रा

54

घर-घर की कहानी भाग -54

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू की मम्मी :- मुझे मोहनदास महाराज के दरबार में बहुत अच्छा लगा। अगर मेरी व्यक्तिगत राय कहूं तो मुझे वहां पर जो शांति मिली उसने मेरे दिल और दिमाग को पूरी तरह संतुष्ट कर दिया। मैं वहां एक अलग ही माहौ

55

घर -घर की कहानी भाग -55

21 जुलाई 2023
0
0
0

(पाठकों किसी भी कहानी की सफलता उसके पाठकों की सक्रिय प्रतिक्रिया के ऊपर निर्भर करती है और मैं उम्मीद करता हूं कि यह सामाजिक रचना को आपकी समीक्षा के लिए तैयार हैं। घर-घर की कहानी नायक सोनू के परिवार को

56

घर -घर की कहानी भाग -56

21 जुलाई 2023
0
0
0

( " पाठकों आपके लिए यह रचना घर में पारिवारिक और सामाजिक समस्याओं को बताने के लिए समाज में उपलब्ध रूढ़िवादी परम्पराओं और दकियानूसी विचारों पर सीधा प्रहार करती है। हम लोग समाज में रहते हैं और पारिवार के

57

घर -घर की कहानी भाग -57

21 जुलाई 2023
0
0
0

(प्रिय पाठकों पिछले भाग में आपने सोनू की सफलता के विषय में कुछ अंश आपके द्वारा पढा गया। इस वक्त सोनू के घर में अनबन का माहौल खत्म हो गया था और चारों तरफ खुशियां ही खुशियां फैली हुई थी। एक आश्चर्यजनक ब

58

घर -घर की कहानी भाग -58

21 जुलाई 2023
0
0
0

(प्रिय पाठकों घर घर की कहानी रचना  लगातार आगे बढ़ती जा रही है जिसमें समाज के विभिन्न पहलुओं पर ध्यानाकर्षण किया जा रहा है आपसे निवेदन है कि आप इस धारावाहिक को पढ़कर अपने विचार व्यक्त करें। हर घर में

59

घर -घर की कहानी भाग -59

21 जुलाई 2023
0
0
0

(प्रिय पाठकों घर घर की कहानी का भाग 5 आपके सामने प्रस्तुत किया जा रहा है जिसमें ममता के अलावा शीला के व्यवहार को भी आपके सामने प्रस्तुत किया जाएगा। समाज में वातावरण का बहुत विशेष योगदान होता है। और हर

60

घर - घर की कहानी भाग -60

21 जुलाई 2023
0
0
0

(प्रिय पाठकों हमारे समाज में दो कहावतें है "भगवान जब देता है तब छप्पर फाड़कर देता है और लेता है तब भी छप्पर फाड़कर देता है।" इसके अलावा "पहला प्यार हमेशा याद रहता है।" शादी भी मनुष्य की जिं

61

घर -घर की कहानी भाग -61

21 जुलाई 2023
0
0
0

(प्रिय पाठको हम" घर घर की कहानी" उपन्यास का भाग 6 आपके सामने प्रस्तुत करने जा रहे हैं जिसमें सोनू नौकरी करने के लिए अपने घर से निकलता है और उसी से समय उसके घरवाले इस बात के लिए बेचैन हो जाते हैं।और सो

62

घर -घर की कहानी भाग-62

21 जुलाई 2023
0
0
0

बूढ़ी मां अपनी कथा सुनाने लगी। बेटा इस दुनिया में मनुष्य बड़ा स्वार्थी होता है। जब तक किसी मनुष्य के हाथ-पैर चलते रहते हैं तब तक वह इसके पीछे लगा रहता है। लेकिन जब उसके हाथ पर काम छोड़ने लगते हैं उस व

63

घर - घर की कहानी भाग -63

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू :- मेरी और राहुल भाई की बहसबाजी चल रही थी उसी दौरान कुछ लोग जो पास की सीटों पर बैठे थे हमारी इस बहस को हिस्सा बन गये और अपने अपने तर्क सुनाने लगे। एक अधेड व्यक्ति जिसकी उम्र लगभग 50 साल के आसपास

64

घर -घर की कहानी भाग -64

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-चेन्नई के पास तांब्रम रेलवे स्टेशन पर मेरी पोस्टिंग हुई। अगले दिन हमें वहां पर रिपोर्ट करना था और उसके बाद हमें वहां से ट्रेनिंग मेमो लेकर त्रिची रेलवे ट्रेनिंग स्कूल में ट्रेनिंग के लिए भेज दिय

65

घर - घर की कहानी भाग -65

21 जुलाई 2023
0
0
0

ममता:- हमारे घर में सब कुछ ठीक चल रहा था। बहुत दिनों के बाद घर में खुशियां लौटकर आई थी। समय की बड़ी करवट थी,जो हमारे घर को पूरी तरह बदल दिया।हमारे घर में खुशी का सबसे बड़ा  खुशी का कारण शीला का नये सद

66

घर - घर की कहानी भाग -66

21 जुलाई 2023
0
0
0

शरत की मम्मी:- मुझे समझ में नहीं आ रहा था, कि इस  शरत को क्या हो गया है? आज यह इतनी गंदी भाषा में बातें क्यों कर रहा है।  मुझे लग रह है कि इसके अंदर का डर निकल गया है। मैंने उसे इतना अधिक बोलते हुए

67

घर -घर की कहानी भाग -67

21 जुलाई 2023
0
0
0

शरत के माता और पिता ने उसे अपने पास बिठाया और उसे बड़े ही प्यार से समझाया। बेटा तुम अभी पढ़ाई कर रहे हो। जिस उम्र में तुम इस समय जी रहे हो। उसमें तुम्हें पढ़ाई करने की आवश्यकता है। अगर तुम इस समय घर-

68

घर-घर की कहानी भाग -68

21 जुलाई 2023
0
0
0

"जब किसी परिवार के एक  व्यक्ति को समाज के कुछ बिगड़ैल और घर बिगाड़ने वाले लोगों की संगति मिल जाती है, तो वे किसी भी घर को बिगाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ते। इन लोगों का परंपरागत स्वाभाविक गुण है कि  व

69

घर घर की कहानी भाग -69

21 जुलाई 2023
0
0
0

शरत:-हम रात को खाना खाने के बाद काफी देर तक बातचीत करते रहे। और सुबह की पूरी प्लानिंग करके सुबह की सारी व्यवस्थाएं कर चुके थे। बातचीत करते हुए और प्लान बनाते-बनाते न जाने कब रात के बारह बज गये इस बात

70

घर -घर की कहानी भाग - 70

21 जुलाई 2023
0
0
0

ममता :-सभी लोगो के मन में खुशियां ही खुशियां थी। लेकिन हम स्त्रियों की क्या जिंदगी है जो हमें कभी भी स्वतन्त्र होकर सजने धजने का मौका नहीं देती है। हमारी जिंदगी बिलकुल खराब कर दी है।। मेरे उदास च

71

घर - घर की कहानी भाग-71

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू: आज सुबह से ही मेरे घर पर गांव के लोगों का  जमावड़ा लगा हुआ है।  सभी लोगों मुझसे मिलकर मेरा  हालचाल पूछ रहे हैं । मेरे से दक्षिण भारत का मौसम और जलवायु के बारे में पूछ रहे हैं । मैं जब से आया हू

72

घर -घर की कहानी भाग -72

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू के चले जाने के बाद घर के सभी लोगों मन में उदासीनता सी छा गई क्योंकि सोनू के आने पर घर का माहौल बाग के खिलते हुए फूलों की तरह हो गया है। माहौल था शरत:- मेरे मन में बार-बार एक ही सवाल आ रही थी। मु

73

घर - घर की कहानी भाग -73

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू सोच रहा था कि मुझे आभास हो गया कि हमारे घर में फिर से कोई नई आफत खड़ी होने वाली है इसलिए मैंने छुट्टी लेकर घर जाना उचित समझा। मैंने मेरे ऑफिस में दस दिन की छुट्टियां लगाई और घर की तरफ निकल पडा।

74

घर -घर की कहानी भाग -74

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-बुला लीजिए! उस महाशय को ! मुझे नहीं करनी किसी की परवाह। मैं सोचते-सोचते परेशान हूं और इनको पसंद ही नहीं आ रहा है। इस बार मैं फैसला करके ही जाऊंगा। अगर उसमें इतनी ही हिम्मत है तो कल आकर मेरे साथ

75

घर -घर की कहानी भाग -75

21 जुलाई 2023
0
0
0

शरत की मम्मी:-शरत अभी अपने कमरे में शांति से बैठ गया और मैं अपने आंसू पौछते हुए औरतों के बीच में अपने घर में हो रहे हाई प्रोफाइल ड्रामा कौन सुना रही थी। कम से कम एक घंटा हो गये।‌हमारे ही परिवार को लो

76

घर -घर की कहानी भाग -76

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:-मुझे चिंता हो रही थी कि समय का कुछ पता नहीं लगता है। आज मुझे बचपन की याद आ रही है जब मुझे शरत की परवाह रहती थी। और शरत मेरे बिना नहीं रहता था। हमारी राम-लखन की सी जोडी थी। आज मुझे वे‌ दिन बहुत य

77

घर -घर की कहानी भाग -77

21 जुलाई 2023
0
0
0

ममता घर के आंगन में बैंठकर खाना खा रही थी और सोनू उसके पास मे ही खाट पर बैठे हुए थे। उसी वक्त शरत दरवाजे से प्रवेश करता है और सामान से भरा थैला लेकर चुपचाप घर के अंदर घुस जाते हैं। शीला जो मुंह फुला

78

घर -घर की कहानी भाग -78

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू और उसके चाचा जैसे ही घर से बाइक से निकले उसी वक्त सभी लोगों को‌ शक हो गया। सोनू: मम्मी हमारे पीछे चिल्लाती रह गई और पापा भी कहते-कहते तक गये थे कि उन्हें बता दिया जाये की क्या हो गया है। हम लोग

79

घर -घर की कहानी भाग -79

21 जुलाई 2023
0
0
0

चंदन:-सोनू को बहुत चुप कराया जा रहा था लेकिन वह चुप ही नहीं हो रहा था और फूट-फूटकर रो रहा था। उसका पूरा चेहरा आंसूओं से धुल गया। वह बिल्कुल भी संतोष नहीं कर पा रहा था। हुबकियां लेते-लेते उसे अपने भाई

80

घर -घर की कहानी भाग -80

21 जुलाई 2023
0
0
0

सोनू:- मुझे मेरे भैया से मिलने की देर हो रही थी। मैं मन ही मन अंदर से व्यथित था। मेरी असीम बाधाएं मुझे अंदर ही अंदर कौंध रही थी‌। कि आज मेरे साथ अच्छा नहीं किया है। मैने बचपन से तुम्हारी भक्ति में क्य

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए