shabd-logo

गीता भदौरिया के बारे में

साहित्य के वृहत सागर में एक ओस की बूंद, जिसके सपने बहुत बड़े हैं और पंख छोटे। छोटे पंखों के साथ अपना आसमान खोज रही हूँ। प्रकाशित पुस्तकें: - अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद - 'राम वही जो सिया मन भाये'

Other Language Profiles

पुरस्कार और सम्मान

prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-06-28
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-06-23
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-04-04
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-03-17
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-03-01
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-01-07
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2022-07-07
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-12-21
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-11-13
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-10-24
prize-icon
दैनिक लेखन प्रतियोगिता2021-09-21

गीता भदौरिया की पुस्तकें

राम वही जो सिया मन भाये

राम वही जो सिया मन भाये

समिता - एक मिडिल क्लास पढ़ाकू और स्वाभिमानी लड़की, जिसके सपने बहुत बड़े तो है , लेकिन उसूलों के साथ। वह अपने उसूलों से कोई समझौता नही करती। और राज - एक अपर मिडिल क्लास का पढ़ाकू लड़का है, अमीर बनना चाहता है, इसलिये दायरे में रहकर जमीर से समझौता कर ही लेत

102 पाठक
53 रचनाएँ
3 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

प्रिंट बुक:

270/-

राम वही जो सिया मन भाये

राम वही जो सिया मन भाये

समिता - एक मिडिल क्लास पढ़ाकू और स्वाभिमानी लड़की, जिसके सपने बहुत बड़े तो है , लेकिन उसूलों के साथ। वह अपने उसूलों से कोई समझौता नही करती। और राज - एक अपर मिडिल क्लास का पढ़ाकू लड़का है, अमीर बनना चाहता है, इसलिये दायरे में रहकर जमीर से समझौता कर ही लेत

102 पाठक
53 रचनाएँ
3 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 53/-

प्रिंट बुक:

270/-

मेरी डायरी

मेरी डायरी

विभिन्न विषयों पर लेख

86 पाठक
29 रचनाएँ

निःशुल्क

मेरी डायरी

मेरी डायरी

विभिन्न विषयों पर लेख

86 पाठक
29 रचनाएँ

निःशुल्क

अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद

अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद

समाज में कितने लोग हैं जो अपनी भावनाओं को शब्द नहीं दे पाते और मानसिक तनाव का शिकार हो जाते हैं। कुछ ऐसे भी लोग हैं जो अपनी भावनाओं के प्रति मुखर हो जाते हैं और 'तेज' का तमगा पा जाते हैं। ऐसे सभी लोगों की भावनाओं के अंतर्द्वंद को अभिव्यक्त करने का

71 पाठक
9 रचनाएँ
7 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 63/-

प्रिंट बुक:

176/-

अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद

अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद

समाज में कितने लोग हैं जो अपनी भावनाओं को शब्द नहीं दे पाते और मानसिक तनाव का शिकार हो जाते हैं। कुछ ऐसे भी लोग हैं जो अपनी भावनाओं के प्रति मुखर हो जाते हैं और 'तेज' का तमगा पा जाते हैं। ऐसे सभी लोगों की भावनाओं के अंतर्द्वंद को अभिव्यक्त करने का

71 पाठक
9 रचनाएँ
7 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 63/-

प्रिंट बुक:

176/-

मेरी चुनी हुई कवितायें

मेरी चुनी हुई कवितायें

मेरी कुछ चुनी हुई कविताओं का संकलन आपके लिए

निःशुल्क

मेरी चुनी हुई कवितायें

मेरी चुनी हुई कवितायें

मेरी कुछ चुनी हुई कविताओं का संकलन आपके लिए

निःशुल्क

गीता की उल्टी ज्ञान गंगा

गीता की उल्टी ज्ञान गंगा

किसी भी विषय को देखने का लेखिका का एक अलग ही नजरिया है, जिससे हास्य का जन्म तो होता है पर वह सोचने को मजबूर करता है। किसी के माथे पर चिंता की लकीर डालना आसान है, पर मुख पर मुस्कराहट की रेखा खींचना मुश्किल।। मुस्कराकर सोचने को मजबूर होने के लिए पढ़े-

31 पाठक
17 रचनाएँ
4 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 63/-

गीता की उल्टी ज्ञान गंगा

गीता की उल्टी ज्ञान गंगा

किसी भी विषय को देखने का लेखिका का एक अलग ही नजरिया है, जिससे हास्य का जन्म तो होता है पर वह सोचने को मजबूर करता है। किसी के माथे पर चिंता की लकीर डालना आसान है, पर मुख पर मुस्कराहट की रेखा खींचना मुश्किल।। मुस्कराकर सोचने को मजबूर होने के लिए पढ़े-

31 पाठक
17 रचनाएँ
4 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 63/-

दैनिक प्रतियोगिता

दैनिक प्रतियोगिता

शब्द.इन की प्रतियोगिता

27 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

दैनिक प्रतियोगिता

दैनिक प्रतियोगिता

शब्द.इन की प्रतियोगिता

27 पाठक
3 रचनाएँ

निःशुल्क

गीता दैनन्दिनी मार्च 2022

गीता दैनन्दिनी मार्च 2022

मेरे व्यक्तित्व का आईना है मेरी डायरी। मुझे जानना है तो मेरी डायरी पढे।

25 पाठक
17 रचनाएँ

निःशुल्क

गीता दैनन्दिनी मार्च 2022

गीता दैनन्दिनी मार्च 2022

मेरे व्यक्तित्व का आईना है मेरी डायरी। मुझे जानना है तो मेरी डायरी पढे।

25 पाठक
17 रचनाएँ

निःशुल्क

गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

डायरी किसी के भी व्यक्तित्व का आईना होती है। तो मेरे व्यक्तित्व को जानने के लिए पढ़े-मेरी गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

24 पाठक
24 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 11/-

गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

डायरी किसी के भी व्यक्तित्व का आईना होती है। तो मेरे व्यक्तित्व को जानने के लिए पढ़े-मेरी गीता दैनंदिनी - फरवरी 2022

24 पाठक
24 रचनाएँ
1 लोगों ने खरीदा

ईबुक:

₹ 11/-

जून 2022 डायरी

जून 2022 डायरी

समसामयिक विषयों पर मन की बातें साझा कर लेती हूँ। ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर।।

12 पाठक
13 रचनाएँ

निःशुल्क

जून 2022 डायरी

जून 2022 डायरी

समसामयिक विषयों पर मन की बातें साझा कर लेती हूँ। ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर।।

12 पाठक
13 रचनाएँ

निःशुल्क

डियर डायरी (अप्रैल 2022)

डियर डायरी (अप्रैल 2022)

किसी को जानना हो तो उसकी डायरी पढ़ लो। बस......

10 पाठक
11 रचनाएँ

निःशुल्क

डियर डायरी (अप्रैल 2022)

डियर डायरी (अप्रैल 2022)

किसी को जानना हो तो उसकी डायरी पढ़ लो। बस......

10 पाठक
11 रचनाएँ

निःशुल्क

और देखे

गीता भदौरिया के लेख

शब्दों की ताकत और कमजोरी

29 जून 2022
1
2

दिनाँक: 29.06.2022समय: शाम 7 बजेप्रिय सखी,पता है रिश्ते बहुत नाजुक होते हैं और कुछ ही गलतफहमियां बड़ी समस्यायों की जड़ हो सकती हैं। कई बार हम अनजाने में अपनों को हर्ट कर देते हैं और आपको इस बात क

एबॉर्शन अधिकार या मेडिकल इमरजेंसी

28 जून 2022
1
0

दिनाँक : 28.06.2022समय : रात 8 बजेप्रिय सखी,3-4 दिन से अमेरिका की महिलाएं सड़कों पर हैं। एबॉर्शन का अधिकार कोर्ट द्वारा वापिस लेंने के फैंसले के खिलाफ पहले आंदोलन कर रहीं थीं। अब उन्होंने ध

आज के चाणक्य

28 जून 2022
1
0

दिनाँक: 27.06.2022समय : रात 12 बजेप्रिय सखी,सुना था कि राजनीति बड़ी कमबख्त चीज होती है। फिर सुना कि बिजनेस बड़ी कुत्ती चीज होती है। ऐसा कोई सगा नहीं होता, जिसको बिजनेसमैन ने ठगा नहीं होता। ले

साम दाम दंड भेद

24 जून 2022
1
0

दिनाँक : 24.06.2022समय: रात 8 बजेप्रिय सखी,भारत में चाणक्य को राजनीति का पुरोधा कहा जाता है। कौटिल्य या चाणक्य ने युद्ध की स्थितियों से बचने के लिए राज्य की राजनीति में समाधान लाने क

क्या आप सुपर क्लास से आते है?

23 जून 2022
2
1

दिनाँक: 23.06.2022समय: शाम 7:30 बजे। प्रिय सखी,यह देश हमारा है और इसको समर्थ बनाने में हम तन, मन और धन से पूरा योगदान करते हैं। यानी मन लगाकर काम करते हैं और धन देकर टैक्स भरते हैं। ताकि दे

कौन पॉवरफुल? मॉनिटर, टीचर या प्रिंसिपल

22 जून 2022
1
0

दिनांक: 22.06.2022समय : शाम 7 बजेप्रिय सखी,12th में हमारी क्लास में सुनीता नाम की लड़की को टीचर ने मॉनिटर बनाया। वह ना तो पढ़ाई में टॉपर थी और ना व्यवहार मे बहुत अच्छी थी। हाँ! लम्बी तगड़ी सु

नेताओं के वादे माने चटपटे गोलगप्पे

19 जून 2022
3
2

"आपको पता है, नेताओं को ना तो बैकवर्ड से कोई मतलब है, ना फारवर्ड से। उन्हें केवल वोट बैंक से मतलब है। वे जिसे वोटों के लिए भरमा सकते है, उन्हें आरक्षण का झुनझुना पकड़ाकर वोट लेते हैं। जिन्हें वोट बैंक

सांसद अग्निवीर योजना

17 जून 2022
3
6

दिनाँक: 17.06.2022समय : शाम 10:30 बजेप्रिय सखी,शुभ संध्या!आफिस से आकर गर्म चाय के साथ गर्मागर्म आईडिया आया है। क्यों ना जनता एक योजना बनाये और सरकार से गुजारिश करे कि-1. सांसद ठ

कोविशील्ड माने नो शील्ड😢 आप खुद जिम्मेदार हैं

14 जून 2022
1
0

दिनांक: 14.06.2022समय : शाम 7 बजे।प्रिय सखी,पता है! मेरी कलीग को और मुझे, एक साथ फीवर आया। उसने कोरोना का टेस्ट कराया तो पॉजिटिव आया तो कल मैने भी टेस्ट कराया। आज मेरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव है। दोस्ती हो

इवेंट मैनेजमेंट बनाम राजनीति

13 जून 2022
1
1

दिनाँक: 13.06.2022समय : रात 11 बजेसखी,पहले बड़े- बड़े बिज़नेस हाउस इवेंट मैनेजमेंट करते थे। आजकल देश की राजनीति ही इवेंट मैनेजमेंट का घर बन गई है। साहब हर इवेंट के लिए पोशाक बदलते है। तो भला ब

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए