shabd-logo
Shabd Book - Shabd.in

हरिशंकर की परछाईं

दीपक कुमार श्रीवास्तव "नील पदम्"

2 अध्याय
0 व्यक्ति ने लाइब्रेरी में जोड़ा
1 पाठक
निःशुल्क

हास्य-व्यंग्य की रोचक यात्रा नाटक विधा के रूप में ....... आशान्वित हूँ कि आपको पसंद आएगा  

harishankar ki parchhain

0.0(1)


बहुत सुंदर लेखन सामाजिक तंत्र पर सटीक चोट आम आदमी की परेशानियों का बखूबी व्यंग्यात्मक लहजे में वर्णन पूरी कहानी में रोचकता बनी रही👍👌🙏

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए