shabd-logo

एक वज्रह्दया क्षत्राणी - हीरा दे

7 मई 2023

60 बार देखा गया 60


article-image


हीरा दे : एक वज्रहृदया क्षत्राणी

संवत 1368, वैशाख का निदाघ पत्थर पिघला रहा था। तभी द्वार पर दस्तक सुनी और हीरा-दे ने दरवाजा खोला। स्वेद में नहाया उसका पति विका दहिया एक पोटली उठाये खड़ा था। उसका काँपता शरीर और लड़खड़ाता स्वर, चोर या तो नैण से पकड़ा जाता है या फिर वैण से। तिस पर हीरा-दे तो क्षत्राणी थी; वह पसीने की गंध से अनुमान लगा सकती थी कि यह पसीना रणक्षेत्र में खपे पराक्रमी का है या भागे हुए गद्दार का।


" मैंने जालोर का सौदा कर दिया " - विका ने हीरा-दे की लाल होती आँखें देखकर सच बक दिया। इतना पर्याप्त था। शेष बातें तो वह जानती थी। वह जानती थी कि किले के निर्माण में रही खामी को केवल उसका भरतार जानता है। आज उसका पति चंद स्वर्ण-मुद्राओं के बदले सोनगरा चौहानों की मान-मर्यादा और प्राण संकट में डाल आया। अलाउद्दीन कितना बर्बर है, वह जानती थी।


एकाएक उसकी आँखों के सामने जालोर दुर्ग के दृश्य तैरने लगे। एक तरफ़ कान्हड़देव और कुंवर भतीज


वीरमदेव म्लेच्छ सेना के भीड़ रहे हैं तो दूजी तरफ़ क्षत्रिय स्त्रियों ने जोहर की तैयारी कर ली है। तलवारों की टँकारों से व्योम प्रकम्पित और धरा रक्त से लाल। हीरा-दे ने झटपट आँखें खोल स्वयं को दुःस्वप्न से बाहर लाया।


उसके पास इतना समय नहीं था कि वह लाभ-हानि का गणित लगाती। माँ चामुंडा का स्मरण किया और कुछ पग आगे बढ़ाते हुए म्यान देखी। वह कटार दुर्भाग्यशालिनी जो शत्रु की छाती को छोड़ म्यान में सोती हो। क्षत्रिय के लिए कटार केवल शस्त्र नहीं, धर्म स्थापना की साधना में पवित्र आयुध है।


" यह तलवार आज यहाँ है; इसलिए हजारों-लाखों क्षत्राणियों के सुहाग उजड़े हैं, कई नवजात आंखें खोलने से पहले अनाथ हुए हैं। आज इसका ऋण चुकाने की बारी मेरी है। " - आंखों में रक्त भरते हुए हीरा-दे ललकार पड़ी।


हीरा दे ने म्यान से तलवार क्या खींची; धरा आशीष देने लगी, स्वर्गस्थ पूर्वजों ने दोनों हाथ उठाकर अपनी बेटी को आशीष दिया। अपने भीतर का सम्पूर्ण सामर्थ्य एकत्र कर वह अपने प्राणनाथ के सामने थी।


" हिरादेवी भणइ चण्डाल सूं मुख देखाड्यूं काळ " हे विधाता! कैसा समय दिखाया कि आज इस चंडाल का मुँह देखना पड़ रहा है। लेकिन नहीं, अब नहीं --


" जो चंद कौड़ियों में बिक जाये वो एक क्षत्राणी का पति नहीं हो सकता। गद्दार पिता पति या पुत्र नहीं होता, गद्दार सिर्फ गद्दार होता है। " - यह कहते हुए उस पाषाण हृदया क्षत्राणी ने एक हाथ से अपनी सिंदूर रेख मिटायी और दूसरे हाथ से वह कटार निज पति की छाती में उतारकर इतिहास में एक नई रेख खींच दी।


सोना-चांदी के प्रलोभन में नहीं झुकती क्षत्राणी, यह उसके लिए मैल से बढ़कर कुछ नहीं। वह इतिहास में अमर होने की इच्छा नहीं पालती, वह तो स्वयं इतिहास को अपनी काँख में दबाकर चलती है। क्षत्राणी विलाप नहीं करती, वह ललकारती है। क्षत्राणी सब क्षमा कर सकती है किंतु कायर और गद्दार पति नहीं।


राज्य के प्रति ऐसी अनन्य निष्ठा कि अपनी पति तक को मौत के घाट उतार दिया, विश्व इतिहास में ऐसा उदाहरण विरल है।


कायर पति के सीने में खंजर उतार देती, आग में कूद पड़ती,


घोड़े पर बैठकर रण में तलवार चलाती, पति और पुत्र के भाल।


पर तिलक कर समर में भेज देती - क्षत्राणी सब नहीं होती!


डेढ़ सेर कलेजा चाहिए।।

1

राणा हरराय चौहान

7 मई 2023
5
0
0

हरियाणा के संस्थापक क्षत्रिय राजपूत सम्राट राणा हरराय चौहान जी ।।  मित्रों आज हम आपको चौहान वंश के ऐसे वीर यौद्धा की गाथा सुनाएंगे जिनके बारे आज बहुत कम लोग जानते हैं, एक समय हरियाणा के इत

2

सम्राट पृथ्वीराज चौहान

7 मई 2023
1
0
0

नाम (Name) पृथ्वीराज चौहान उपनाम (Nick Name ) भारतेश्वर, पृथ्वीराजतृतीय, हिन्दूसम्राट्, सपादलक्षेश्वर, राय पिथौरा जन्मदिन (Birthday) 1 जून 1163 (आंग्ल पंचांग के अनुसार) जन्म स्थान (Birth Pla

3

सम्राट मिहिरभोज प्रतिहार

7 मई 2023
1
0
0

(1) सम्राट मिहिरभोज का जन्म विक्रम संवत 873 (816 ईस्वी) को हुआ था। आपको कई नाम से जाना जाता है जैसे भोजराज, भोजदेव , मिहिर , आदिवराह एवं प्रभास। (2) आपका राज्याभिषेक विक्रम संवत 893 यानी 18 अ

4

दिल्ली के अंतिम हिन्दू सम्राट हेमचन्द्र विक्रमादित्य

7 मई 2023
0
0
0

दिल्ली के अंतिम हिन्दू सम्राट हेमचन्द्र विक्रमादित्य राज्यारोहण दिवस - 7 अक्तूबर, 1556 अपने शौर्य से इतिहास की धारा मोड़ने वाले वीर हेमू का जन्म दो अक्तूबर, 1501 (विजयादशमी) को ग्राम मछेरी

5

महाराजा सर प्रताप सिंह राठौड़

7 मई 2023
0
0
0

महाराजा सर प्रताप सिंह राठौड़ (मारवाड़-जोधपुर) की (21अक्टूम्बर 1845) 177वीं जयंती पर शत शत नमन.... राजपूत समाज में समकालीन परिस्थितियों को देखकर भविष्य कि पहचान अगर किसी ने वक्त रहते हुवे कि

6

महाराजा जवाहर सिंह

7 मई 2023
0
0
0

आगरा किले में मुगलों का टूटा हुआ सिंहासन--- इस सिंहासन को हिन्दू वीर जाट महाराजा जवाहर सिंह जी ने एक मुक्का मारकर तोड़ा था। 12 जून 1761 को जाटों ने आगरा को जीत लिया था। 1774 तक आगरा जाटों के अधी

7

बप्पा रावल (कालभोज)

7 मई 2023
0
0
0

कालभोज(बप्पा रावल)  एक राजपूत बालक की गाय रोज दूध दुहने के समय कहीं चली जाती थी। उस बालक को रोज भूखा रहना पड़ता था इसलिए एक दिन वो उस गाय के पीछे पीछे गया। गाय एक ऋषि के आश्रम में पहुंची और एक

8

शिवाजी शहाजी भोसले (छत्रपति शिवाजी महाराज)

7 मई 2023
0
0
0

छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) ये महापुरूष और कोई नहीं बल्कि हिन्दुत्व के महान रक्षक और मुगलों की ईंट से ईंट बजाने वाले शिवाजी उर्फ़ छत्रपति शिवाजी महाराज है। शिवाजी का प्

9

महान योद्धा बन्दा सिंह बैरागी

7 मई 2023
0
0
0

महान योद्धा बंदा सिंह बहादुर (बन्दा बैरागी ) -जन्म दिन 27 अक्तूबर,1670 मुगलों को नाकों चने चबवाने वाले योद्धा बन्दा बैरागी का जन्म जम्मू कश्मीर के पुंछ में 27 अक्तूबर, 1670 को ग्राम तच्छल किला,

10

चंबल की क्षत्राणी (ठकुराइन) की जल समाधि

7 मई 2023
0
0
0

चंबल की क्षत्राणी (ठकुराइन) की जल समाधि वैसे तो हमारे भारतवर्ष का इतिहास क्षत्रियों के त्याग और  बलिदानों से भरे पड़ा है, आपको सन 1971 की एक सत्य घटना से आपको अवगत कराती हूं। चंबल नदी

11

राजकुमारी ताजकुंवरी (सतीत्व की अनूठी मिसाल)

7 मई 2023
0
0
0

माॅं भवानी का अंश स्वरूप, सतीत्व की अनूठी मिशाल क्षत्राणी राजकुमारी ताजकुंवरी जी।।  कानपुर के समीप गंगा किनारे किसोरा नामक राज्य स्थित था। किसोरा के राजा सज्जनसिंह की राजकुमारी ताजकुंवरी और

12

गढ़वाल की बहादुर महारानी कर्णावती

7 मई 2023
0
0
0

गढ़वाल की बहादुर महारानी कर्णावती - नाक काटी रानी।। गढ़वाल की बहादुर महारानी कर्णावती "नाक काटी रानी" क्या आपने गढ़वाल क्षेत्र की “नाक काटी रानी” का नाम सुना है ? नहीं सुना

13

अमर बलिदानी हाड़ी रानी सहल कंवर (इन्द्र कंवर)

7 मई 2023
0
0
0

हाड़ी रानी की गौरव गाथा:- मेवाड़ के ठिकानों में से एक ठिकाना था सलूम्बर। वहां का रावत रतनसिंह एक चूंडावत सरदार था। उसके समय में मेवाड़ पर महाराणा राजसिंह प्रथम (वि.सं. 1706-1737) शासन कर रहे

14

एक वज्रह्दया क्षत्राणी - हीरा दे

7 मई 2023
0
0
0

हीरा दे : एक वज्रहृदया क्षत्राणी संवत 1368, वैशाख का निदाघ पत्थर पिघला रहा था। तभी द्वार पर दस्तक सुनी और हीरा-दे ने दरवाजा खोला। स्वेद में नहाया उसका पति विका दहिया एक पोटली उठाये खड़ा था। उसका

15

उदयपुर की राजकुमारी कृष्णाकुमारी

7 मई 2023
0
0
0

राजकुमारी कृष्णा कुमारी उपन्यास: - दिनेश कुमार कीर *धरमा* उदयपुर की राजकुमारी कृष्णा:- जिसके लिये तनी थीं तलवारें...  यह हिन्दुस्तान के इतिहास के उस दौर की दास्तान है जब एक ओर जहां मुगल बादशाहों की

16

चित्तौड़ की रानी पद्मावती

7 मई 2023
0
0
0

रानी पद्मावती: - भारतीय इतिहास के पन्नों में अत्यंत सुंदर और साहसी रानी “रानी पद्मावती” का उल्लेख है । रानी पद्मावती को रानी पद्मिनी के नाम से भी जाना जाता है । रानी पद्मावती के पिता सिंघल प्रांत (श्र

17

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई

7 मई 2023
0
0
0

रानी लक्ष्मीबाई का जीवन परिचय, इतिहास...  लक्ष्मीबाई, झांसी की रानी उत्तर प्रदेश, भारत में झांसी की मराठा रियासत की रानी थीं। लक्ष्मीबाई ने ब्रिटिश औपनिवेशिक सरकार के खिलाफ 1857 के विद्रोह में सक्र

18

छत्तीसगढ़ का आदिवासी हीरो टाइगर बॉय चेंदरू मंडावी

7 मई 2023
0
0
0

छत्तीसगढ़ का आदिवासी हीरो टाइगर बॉय चेंदरू मंडावी की पुण्यतिथि पर उन्हें शत्-शत् नमन...... नारायणपुर गड़बेंगाल के निवासी चंदरु की कहानी छत्तीसगढ़ का टाइगर बॉय चेंदरु जिसने जल, जंगल, जमीन को अपने

19

राजपूत काल की महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गयी महिलाऐ

7 मई 2023
0
0
0

रूठी रानी यों तो रूठी रानी के नाम से उमा दे को जाना जाता है पर भीलवाड़ा जिले के मेनाल में रूठी रानी का महलस्थित है जिसके लिए माना जाता है कि यह महल रानी सुहावा देवीका है रानी सुहावा देवी अजमेर नरेश पृ

20

वीर दुर्गादास राठौड़

13 मई 2023
0
0
0

राष्ट्रगौरव दुर्गादास राठौड़ सालवा से शिप्रा तट तक का सफरहिंदुगौरव रणबंका राठौड़जिसने इस देश का पूर्ण इस्लामीकरण करने की औरंगजेब की साजिश को विफल कर हिन्दू धर्म की रक्षा की थी….. उस महान का ना

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए