shabd-logo
Shabd Book - Shabd.in

व्यथा कथा ( कहानी संग्रह)

डॉ. निशा नंंदिनी भारतीय

10 अध्याय
3 लोगों ने खरीदा
22 पाठक
23 मार्च 2022 को पूर्ण की गई

इस पुस्तक में दी गईं सभी कहानियां सत्य घटनाओं पर आधारित है। यह कहानियां पाठक के हृदय पर एक अमिट छाप अवश्य चिन्हित करेंगी। छोटा जादूगर, टुलु की प्रेमकथा, रेवती की खुद्दारी, संवाद, पतंग सिर्फ खेल नहीं आदि कहानियां प्रेरणाप्रद हैं। मुझे आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है। पाठक वर्ग कहानियों का आनंद लेंगे। शुभकामनाओं सहित डॉ निशा नंदिनी भारतीय 

vyatha katha kahani sangrah

0.0(2)


पुस्तक खरीद तो ली है परन्तु समयाभाव के कारण अभी पढ़ नहीं पाया हूँ । सभी कहानियाँ पढने के बाद समीक्षा दूँगा । 5 स्टार इस उम्मीद के साथ दे रहा हूँ कि इस पुस्तक में उत्कृष्ट कहानियाँ पढने को मिलेंगी।

पुस्तक के भाग

1

रॉकी का दर्द

24 मार्च 2022
8
2
4

कहानी- रॉकी का दर्द रॉकी मिस्टर माइक और पैगी की पालतू बिल्ली थी। वह हर समय घर के अंदर ही रहती थी। वे लोग उसे एक मिनट के लिए भी घर से बाहर नहीं जाने देते थे। पांच साल से रॉकी उनके घर की सदस्य बनी हुई

2

रेवती की खुद्दारी

24 मार्च 2022
5
1
0

कहानी- रेवती की खुद्दारी रेवती प्रतिदिन छह घरों में काम करके अपने सात लोगों के परिवार का पालन पोषण करती थी। परिवार में बूढ़े सास- ससुर, तीन बच्चे और शराबी पति थे।घर का काम-काज करके,परिवार के लिए खान

3

सुनो ! तुम मुझसे वादा करो

24 मार्च 2022
3
1
0

कहानी- "सुनो ! तुम मुझसे वादा करो" नरेश अंकल और नियति आंटी आज अपनी शादी की पचासवीं वर्षगाँठ मना रहे थे। आज नरेश अंकल और नियति आंटी दोनों ही सत्तर साल के हो चुके हैं। पचास साल पहले बीस वर्ष की उम्र मे

4

मूक प्रेम

24 मार्च 2022
1
1
0

कहानी- मूक- प्रेम आज लगभग एक साल हो गया उसको देखते हुए वह प्रति दिन प्रातःकाल ठीक आठ चालीस पर उसके घर के सामने से गुजरता था...कुछ देर रूकता...उसे देखता फिर लाठी ठक ठकाता हुआ चल देता। कौन

5

एक थी रतना

24 मार्च 2022
1
1
0

शीर्षक- एक थी रतना आज भी मुझे अच्छी तरह याद है वो समय था दुर्गापूजा की अष्टमी का । जब रतना मेरी जिंदगी में आई थी । यही कोई शाम के छह- सात बजे का समय था, अंधेरा हो गया था । यूँ भी असम में जाड़े के दिन

6

पगली

24 मार्च 2022
1
1
0

लघु कथा - पगली मैं जिस विद्यालय में उपप्रचार्या के पद पर कार्यरत थी, उसी विद्यालय में एक सुमिता. नाम की स्त्री मेरे कार्यालय की साफ सफाई का काम करती थी । प्रतिदिन आठ बजे प्रातः आकर वह अपना

7

बड़ी माँ

24 मार्च 2022
1
1
0

कहानी - बड़ी माँ यह कहानी एक माँ की जुबानी है। हम सब उनको बड़ी माँ कहते हैं । मेरा उनसे प्रेम का रिश्ता है। मैं अक्सर उनके पास जाकर घंटों उनसे बातें करती हूँ। आज तक उनके मुंह से आह या दुख का श

8

खोखला करती दीमक

24 मार्च 2022
1
1
0

कहानी- खोखला करती दीमक वीराने से एक जंगल में कई सौ साल पुराना बरगद का एक वृक्ष था। उसकी लम्बी-लम्बी लटाएं धरती को छू रही थी। बूढ़े बरगद में अपार शक्ति थी। उसके भयानक रूप को देखकर लोग उसके पास जाने से

9

माँ के प्रेम का चमत्कार

24 मार्च 2022
2
1
0

कहानी-माँ के प्रेम का चमत्कार कुंती के विवाह को चार साल हो चुके थे, पर उसके कोई संतान न थी। उसके ससुराल के लोग उससे बहुत नाराज रहते थे। वह कहती थी कि जब तक भगवान की मर्जी न हो, तब तक कुछ नहीं होता है

10

कंजूसी का परिणाम

24 मार्च 2022
2
1
0

कहानी- कंजूसी का परिणाम अलीपुर गांव में बिस्सू नामक एक किसान रहता था। उसके पास बारह सौ बीघा जमीन थी। जिस पर खेती करके वह अपने परिवार का जीवन यापन करता था। उसके परिवार में उसकी पत्नी तीन बच्चे और बूढ़

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए