shabd-logo

हिट एंड रन कानून

hindi articles, stories and books related to hitt eNdd rn kaanuun

नए कानून के तहत, हिट-एंड-रन मामलों में 10 साल तक की जेल और 7 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है - जबकि वर्तमान में दो साल तक की जेल की सजा और हल्का जुर्माना है। अधिकतम 10 साल की सज़ा तब होगी जब अपराधी ने लापरवाही से गाड़ी चलाकर किसी की जान ले ली हो और पुलिस को मामले की सूचना दिए बिना भाग गया हो।


featured image

परिचय  भारत ने हाल ही में हिट-एंड-रन केस के संबंध में अपने दंडिक कानून में एक महत्वपूर्ण संशोधन किया है, जिसमें ब्रिटिश काल के इंडियन पीनल कोड को भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस) से बदल दिया गया है।

हिट एंड रन कानून विवाद: एक चुनौती परिचय :-  हिट एंड रन कानून विवाद ने भारतीय समाज में एक महत्वपूर्ण चरण की ओर कदम बढ़ाया है, जिसने सड़क सुरक्षा और न्याय के समर्पण में नए सवाल उत्पन्न किए हैं। इस

केंद्र सरकार के हिट एंड रन को लेकर नए कानून के विरोध में मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले में ड्राइवर एसोसिएशन ने उग्र आंदोलन किया। प्रदर्शन करते हुए हाइवे पर चक्का जाम कर दिया। मंगलवार को कलेक्टर किशोर कन्

भारत में यह कानून अभी हाल ही में लागू किया गया है । इसका मूल उद्देश्य दुर्घटना के बाद ड्राइवर को भागने से रोकना है । इस नए कानून से ट्रक ड्राइवर व ट्रांसपोर्ट यूनियन ने देशव्यापी हड़ताल को शुरू कर दिय

हाल ही में लोकसभा में पारित भारतीय दण्ड सिंहंता का नाम बदलकर भारतीय न्याय संहिता रखा गया है, जिसमें कुछ कानूनों के प्रावधान बदले गये हैं, जिसमें से एक कानून हिट एण्ड रन है। भारतीय दंड सहिंता के सैक्शन

सावित्री बाई फुले - नारी मुक्ति आंदोलन की प्रणेता, देश की पहली महिला शिक्षिका की जयंती है, जानें उनके संघर्ष की कहानीसावित्रीबाई फुले को समाज सेविका, कवयित्री और दार्शनिक के तौर पर पहचाना जाता है। लेक

सड़क दुर्घटना के नए कानून के विरोध में ट्रक और बसों चालकों ने चक्का जाम कर रखा है।उत्तर प्रदेश के भी कई जिलों में हड़ताल के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हिट एंड रन के मामल

 हिट एंड रन का मतलब है तेज और लापरवाही से गाड़ी चलाने के चलते किसी व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान पहुंचाना और फिर भाग जाना। भारतीय न्याय संहिता की धारा 104 में हिट एन्ड रन का जिक्र किया गया है जिसम

लोग जल जाते हैं मेरी मुस्कान पर क्योंकि,मैंने कभी दर्द की नुमाइश नहीं की... ज़िंदगी से जो मिला कबूल किया,किसी चीज की फरमाइश नहीं की... मुश्किल है समझ पाना मुझे क्योंकि,जीने के अलग अंदाज हैं म

featured image

परिचय: भारतीय न्याय संहिता के अनुसार, जो ब्रिटिश-कालीन भारतीय दंड संहिता का रिप्लेस्मेंट है। जिसके तहत अगर किसी ड्राइवर के लापरवाही से गाड़ी चलाने के चलते कोई गंभीर सड़क दुर्घटना होती है , और वह पुलिस

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए