shabd-logo

सामाजिक की किताबें

Social books in hindi

विभिन्न विषयों पर सामाजिक पुस्तकों को पढ़ें Shabd.in पर। हमारा यह संग्रह समाज के विभिन्न पहलुओं को उजागर करता है। इस संग्रह की मदद से हम पारिवारिक रिश्ते, जात-पात, अमीर-गरीब, दहेज, रंग भेद जैसे कई मुद्दों पर समाज को रौशनी दिखाने का प्रयास करते हैं। इसके अलावा भी भौगोलिक स्थिति के वजह से हाशिये पर रहे समाज की स्थिति पर भी हम समीक्षा देते हैं। तो चलते हैं समाजिक पहलुओं पर चेतना जगाने Shabd.in के साथ।
अपरा

निराला के काव्य में बुद्धिवाद और हृदय का सुन्दर समन्वय है। छायावाद, रहस्यवाद और प्रगतिवाद तीनों क्षेत्रों में निराला का अपना विशिष्ट महत्त्वपूर्ण स्थान है। इनकी रचनाओं में राष्ट्रीय प्रेरणा का स्वर भी मुखर हुआ है। छायावादी कवि होने के कारण निराला का

अभी पढ़ें
निःशुल्क

नैहर का बरम

'नैहर का बरम' उपन्यास कुछ अलग होने वाला है। हिन्दी में ऐसा उपन्यास अबतक किसी ने नहीं लिखा है। इसमें एक सच्चाई है जिसे कह पाना हर लेखक के जिगरे में नहीं है। इस उपन्यास में लड़कियों के त्रिया चरित्र को उजागर किया गया है। इसे पढ़कर आपके मन में विचार आये

अभी पढ़ें
निःशुल्क

सृष्टि (नाटक)

प्रेमचंद आधुनिक हिन्दी कहानी के पितामह और उपन्यास सम्राट माने जाते हैं। यों तो उनके साहित्यिक जीवन का आरंभ १९०१ से हो चुका था पर बीस वर्षों की इस अवधि में उनकी कहानियों के अनेक रंग देखने को मिलते हैं। अमरकथा शिल्पी मुंशी प्रेमचंद ने इस नाटक अदन की वा

1 पाठक
1 अध्याय
23 जुलाई 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

जीवन एक संघर्ष और परिश्रम सफलता की कुंजी

इस एक बालक विक्रम जो अपने घर की तंग हालत में अपने जीवन को बहुत ही कठिन दौर में व्यतीत करता है लेकिन उसके बावजूद भी वह अपनी मेहनत और कर्मों से कभी भी मुंह नहीं मोडता है। वह काफी प्यास करने के बाद जीवन में कैसे सफल होता है।

1 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
30 अध्याय
2 अक्टूबर 2022
अभी पढ़ें
53
ईबुक

प्रकृति प्रेम

बर्षा रानी बर्षा रानी, आती हो तुम कितनी प्यारी। छम छम करती डम डम करती, उछल पुछल तुम दिन भर करती। अपने आंचल में तुम सबको भरती, प्रेम सदा तुम सबको करती। सबका खयाल सदा तुम रखती, प्रकृति के आंचल को ढकती। किसानों के खुशी की मुस्कान तुम बनती, फसलों की सि

0 पाठक
0 अध्याय
अभी पढ़ें
निःशुल्क

 सरकार - धृतराष्ट्र या गांधारी  ?

जब देश सोने की चिड़या कहलाता था तब देश में मुगल आये अंग्रेज आये ओर देश को लूट कर चले गये । और तब का हिंदुस्तान कुछ न कर सका । आज फिर एक बार भारत सोने की चिड़या बनने जा रहा 5000 मिलियन की इकॉनोमी भारत की होने जा रही है मगर वही एक बार फिर देश को विदेशो

0 पाठक
0 अध्याय
12 जून 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क


राजकुमार कहानी प्रथम क़िश्त

राजकुमार एक बिगडैल रईस जादा है। रैश ड्राइविंग उसका शगल है। जिसके कारण वह कई लोगों को घायल कर चुका है। पर वह अपने पैसों के बल पर कानूनी कार्यवाही से बचा हुआ है। एक रात जब वह क्लब से नस्जे की हालात पर घर आ रहा था की उसकी कार से एक रिक्शा वाले को चोट

0 पाठक
3 अध्याय
14 फरवरी 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

पंचवटी

सन्दर्भ- प्रस्तुत पद 'हिन्दी काव्य' में संकलित एवं मैथिलीशरण गुप्त द्वारा रचित खण्डकाव्य 'पंचवटी' से लिया गया है। प्रसंग- यहाँ कवि ने पंचवटी के प्राकृतिक सौन्दर्य का सजीव चित्रण किया है। व्याख्या- गुप्त जी कहते हैं कि सुन्दर चन्द्रमा की किरणें जल और

अभी पढ़ें
निःशुल्क

सिफारिश

सिफारिश   लोगों   की   कमजोरी   को   दर्शाती    है जमीर  इजाजत  न  दे  फिर भी इसकी  लत  लग  ही  जाती है। इश्क  की   सिफारिश   में  लाखों    बर्बाद  हुए ऑंसुओं की बारिश में अनेकों  दिल तबाह  हुए । सिफारिश की थी खुदा से मैंने मेरे महबूब को उसका इश्क 

0 पाठक
0 अध्याय
अभी पढ़ें
निःशुल्क

कुछ लड़कों के जज़्बात, कुछ लड़कों के लिए बात

पुरुष का जीवन कुछ बाते जाने क्या कहता उसका मन कुछ उनके लिए बात समझे वो भी दूसरों के जज़्बात

48 पाठक
11 लोगों ने खरीदा
13 अध्याय
अभी पढ़ें
37
ईबुक

सैरन्ध्री

साहित्यकारों के लेखकीय अवदानों को काव्य हिंदी हैं हम श्रृंखला के तहत पाठकों तक पहुंचाने का प्रयास कर रहा है। हिंदी हैं हम शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- मुदित, जिसका अर्थ है प्रसन्न होना, खुशी। प्रस्तुत है मैथिलीशरण गुप्त के काव्य सैरंध्री (द्रौपदी

अभी पढ़ें
निःशुल्क

मैथिलीशरण गुप्त की प्रमुख  कविताएँ

गुप्त जी कवि की यह भी अधिमान्यता है कि उसकी मातृभूमि की धूल परम पवित्र है। यह धूल शोकदार में दहते हुए प्राणी को दुःख सहने की क्षमता देती है। पाखण्डी-ढोंगी व्यक्ति भी इस धूली को तन-माथे लगाकर साधु-सज्जन बन जाता है। इस मिट्टी में वह शक्ति है जो क्रूर ह

अभी पढ़ें
निःशुल्क

Paid

Paid

0 पाठक
0 अध्याय
26 अप्रैल 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

सुबह का सपना

एक स्त्री के स्वप्न की कहानी

अभी पढ़ें
निःशुल्क

बरगद

मुलायम सिंग बहुत ही कडक स्वभाव के पोलिस अधिकारी थे। उनके पुत्र संजय सिंग व पुत्री नेहा सिंग उनसे बेहद डराते थे। संजय क्रिकेट का बेहतरीन खिलाड़ी था पर उनके पिता उन्हें क्रिकेट खेलने से मना करते थे वहीं पुत्री नेहा सिंग नृत्य सीखने पूना जाना चाहती थी

0 पाठक
2 अध्याय
14 अप्रैल 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

माखन लाल चतुर्वेदी की प्रसिद्ध कविताएं

इस कविता का सारांश यह है कि , एक पुष्प जिसका प्राकृतिक इस्तेमाल , सुन्दर स्त्रियों पर सुशोभित होना , प्रेमिकाओं के गले की माला बनना , भगवानों की मूर्तियों पर चढ़ाया जाना और सम्राटों के शव पर डाला जाना है। वह पुष्प इस सब को छोड़ कर अपने आप को देश पर ब

अभी पढ़ें
निःशुल्क

डॉ भीमराव अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर सत् सत् नमन

*😢😢6 दिसम्बर 1956 राजधानी दिल्ली, रात के 12 बजे थे।* 🌗🌗 *☎️रात का सन्नाटा और अचानक दिल्ली, मुम्बई, नागपुर मे चारों ओर फोन की घण्टियाँ बज रही थी।* *🤫राजभवन मौन था,* *🤫संसद मौन थी,* *🤫राष्ट्रपति भवन मौन था।* *👨‍🦰👩‍🦰हर कोई कशमकश मे था।* *🔥शायद कोई

अभी पढ़ें
निःशुल्क

साहित्य-देवता

इस पुस्तक के भीतर आलोचना को निमित्त मानकतर गद्य में स्वतन्त्र कविताएँ रची हैं। इस पुस्तक के भीतर आलोचना नहीं, स्वतन्त्र काव्य का रस है। यह पण्डित का तर्क नहीं, कवि की वाणी का प्रसाद है। जिस प्रकार माखनलालजी की कविता और वार्ताएँ रसपूर्ण, किन्तु धुँधली

अभी पढ़ें
निःशुल्क

चांडाल (ट्रेलर)

एक वैभवशाली राजा जिसके एक ही पुत्र था। आने राज्य में अपने न्याय के लिए मशहूर राजा प्रजा के लिए बहुत ही अच्छा था। राजा का पुत्र सुभद्र देव बचपन से परकर्मी और मेधावी था। लेकिन एक राजकुमारी कें प्रेम में फंसकर वो एक प्रतियोगिता हार जाता है और इस हार से

0 पाठक
0 अध्याय
अभी पढ़ें
निःशुल्क

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए