shabd-logo

गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं

14 मार्च 2022

56 बार देखा गया 56
दिनाँक : 14.03.2022
समय : रात्रि 10 बजे

प्रिय डायरी जी,

कल अपनी मुंबई कलीग के साथ मथुरा जाना हुआ। 2 km पहले ही गाड़ी पार्क करा दी गई क्योंकि आगे नो एंट्री थी।  दर्शन के लिए श्री कृष्णा जन्मस्थान गए। वहां दर्शन के बाद याद आया कि बहुत साल पहले मैं द्वारकाधीश मंदिर भी गई थी जो किसी पतली सी गली में था। लेकिन कृष्णा जन्मस्थान में भीड़ भाड़ होने से, ज्यादा समय लग जाने से, सभी थकान महसूस कर रहे थे तो किसी ने उत्सुकता नहीं दिखाई। अलबत्ता मेरे मन में था कि वह पुराना मंदिर नहीं देखा। 


मंदिर से एक ई-रिक्शा लिया और उसे पार्किंग में चलने को कहा। लेकिन वह रास्ता भटक गया और परेशान होकर बोला कि पता नहीं आपको कौनसी पार्किंग में जाना है! हमने ड्राइवर को फ़ोन करके कहा कि पार्किंग के किसी व्यक्ति से कहो कि रिक्शे वाले को रास्ता समझा दें। बात करने के बाद रिक्शे वाले को समझ आ गया और वह छोटी - छोटी गलियों से तेजी से रिक्शा निकालने लगा। 

एक गली में मेरी नजर दायीं ओर पड़ी तो देखा श्री द्वारकाधीश जी मंदिर। मैंने रिक्शा रुकवाकर उसे पैसे दिए और अपनी कलीग को मंदिर में चलने के लिए कहा। वे सभी इस आकस्मिक तीर्थ में घुसकर अचंभित थीं। तभी शंखनाद, और घंटो की आवाज के बीच कृष्णा! कृष्णा! नाम के उच्चारण के साथ पर्दे खुल गए और हमें दर्शन हो गए।

ऐसा लगा जैसे द्वारकाधीश ने हमें बुलाने के लिए रिक्शेवाले को भेजा हो। मैंने मन ही मन रिक्शेवाले को धन्यवाद दिया कि रास्ता भटककर उसने हमें सही पते पर पंहुचा दिया। 

मंजिल मिल जाएगी, भटकते ही सही,
गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं। 

गीता भदौरिया

17
रचनाएँ
गीता दैनन्दिनी मार्च 2022
5.0
मेरे व्यक्तित्व का आईना है मेरी डायरी। मुझे जानना है तो मेरी डायरी पढे।
1

अंतरात्मा की हीलिंग के लिए डायरी

1 मार्च 2022
9
5
3

दिनांक : 01 मार्च 2022समय : शाम 7 बजेप्रिय सखी,सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः, सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःखभाग्भवेत्।यूक्रेन में आज एक भारतीय छात्र की मौत ने मन द्रव

2

युद्ध के मैदानों का सच

2 मार्च 2022
5
5
2

पसरी है गहरी खामोशी, सन्नाटा भी सोया है,क्योंकि रातभर आसमां, शोलों के आंसू रोया है। धुँआ-धुँआ है जिंदगी, चहुंओर शोलों का गुबार छाया है,किसके बहकावे में आकर यूक्रेन तू, पत्थर से टकराया है।जिस नेटो

3

गेहूं के साथ घुन का पिसना

3 मार्च 2022
8
6
2

दिनाँक : 03.3.2022समय : सुबह 7 बजेप्रिय सखी डायरी,आज तो दिल्ली का मौसम बहुत ही गर्म है। एकदम से तेज धूप है, सर्दियां लगभग चली ही गई हैं।लेकिन यूक्रेन में तो सर्द-गर्मी है। यहां पर नी

4

ऑनलाइन वोटिंग की टेंशन

4 मार्च 2022
5
5
4

दिनांक : 04.3.2022समय : रात 11 बजेप्रिय डायरी जी,आपरेशन गंगा के तहत पोलैंड, बुल्गारिया, रोमानिया, हंगरी, रोमानिया, स्लोवाकिया से बच्चे भारत लाये जा रहे हैं। पता नहीं ये बच्चे इन देशों में

5

बदस्तूर उधर जाता हूँ

5 मार्च 2022
5
4
0

दिनांनक : 05.3.2022समय : रात 11 बजेप्रिय डायरी,डूबती हूँ कि तैरती हूँ, ये सबब बेमानी है,गर उसे अहसास ही नहीं, कि यहां मैं भी हूँ।जिस गली में वो रहता था, पर अर्से नहीं रहता अब,क्या फर्क है, मैं आ

6

सर्दी की जादू की झप्पी

6 मार्च 2022
5
6
0

दिनांक : 05.2.2022समय : शाम 5 बजेप्रिय डायरी, गर्मियों की सुगबुगाहट के उपरांत अब उसकी तेज आवाजे भी सुनाई देने लगी हैं। सामने पार्क में कराटे करते छोटे छोटे बच्चे चिल्ला रहे है - य्याह

7

उल्लूक प्रदेश के निवासी और दिमाग

7 मार्च 2022
6
6
3

दिनाँक : 07.03.2022समय : रात 11: 00 बजेप्रिय सखी,जाग रही हो ना! सही है, उल्लूक प्रदेश के हम जैसे लेखक और कवि रातों को जागकर ही लेखन करते हैं क्योंकि दिन में तो बहुत काम ह

8

अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद

9 मार्च 2022
9
6
2

दिनाँक : 09.3.2022समय : रात 11:30 बजेप्रिय डायरी,आपको एक खुशी की बात बतानी थी। मेरी दूसरी पुस्तक- 'अभिव्यक्ति या अंतर्द्वंद', जो कि एक कहानी संग्रह है, प्रकाशित हो गई है। लेकिन ये सम

9

पुस्तक अनावरण समारोह

10 मार्च 2022
8
7
6

डायरी : 10.03.2022समय : रात 12 बजेप्रिय डायरी जी,आपके साथ कुछ खुशी की बातें शेयर करनी हैं। पहली तो यह है कि शब्द.इन पुस्तक लेखन प्रतियोगिता में द्वितीय स्थान की पुरुस्कार राशि 21,000/

10

गंगा तेरा पानी अमृत.....

12 मार्च 2022
4
3
0

दिनाँक: 11.03.2022समय : शाम 7:30 बजेप्रिय डायरी जी,कभी कभी हम बहुत कुछ प्लान करते रहते हैं, और वह नही कर पाते। और कभी-कभी ऐसा होता है कि अचानक से कुछ सोचते हैं और वह हो जाता है। मेरी कुछ कुलीग मु

11

गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं

14 मार्च 2022
7
4
0

दिनाँक : 14.03.2022समय : रात्रि 10 बजेप्रिय डायरी जी,कल अपनी मुंबई कलीग के साथ मथुरा जाना हुआ। 2 km पहले ही गाड़ी पार्क करा दी गई क्योंकि आगे नो एंट्री थी। दर्शन के लिए श्री कृष्णा जन्मस्थान गए।

12

पल पल दिल के पास तुम रहती हो...

15 मार्च 2022
5
4
1

दिनांक : 15.03.2022समय : शाम 7 बजेप्रिय सखी डायरी, रोज तुम्हें मैं अपनी बातें बताती हूँ, आज तुम्हारी बात करते हैं। 'पल पल दिल के पास तुम रहती हो'। मेरे दिल के पास तो मेरी ड

13

रंग बरसे बृज में....इन अंखियन में नीर प्रिय

17 मार्च 2022
2
2
0

दिनाँक : 17.03.2022समय : शाम 7 बजेप्रिय डायरी जी,होली की बहुत शुभकामनाएं!दिवाली पर मैं रंगू दीवारें,होली पर रंगू सखी प्रिय।दीवाली पर जलाऊं दीये,होली पर जले हिय प्रिय।दिवाली पर लड़ियों की झा

14

सावन का अंधा

18 मार्च 2022
4
2
3

दिनांक : 18.03.2022समय : रात 9:30प्रिय सखी,होली की ढेर सारी शुभकामनाएं।मंगल मूर्ति, सिद्धि विनायक, लंबोदर, एकदंत, विघ्नहर्ता की कृपा हम सभी पर बनी रहे। इस रंग-बिरंगे त्योहार की रंगीनियत ही

15

रोजगार का मौका या अंधे की रेवडियाँ

19 मार्च 2022
1
2
0

दिनाँक : 19.03.2022समय : शाम 8 बजेप्रिय डायरी जी,पंजाब में लगी है झाड़ू औरदिग्गज पड़े है डस्टबिन में।जीतने और हारने वाले,दोनों ही जमात में शामिल है।पंजाब के कोने-कोने से ढूंढ-ढूंढ कर इकट्ठी की गई,म

16

हवन कुंड की पवित्र अग्नि

20 मार्च 2022
1
1
0

दिनांक : 20.03.2022समय : दोपहर 3 बजे।प्रिय सखी,आज का दिन बड़ा ही शुभ और व्यस्तता से भरा था। आज हमारे निदेशक, जो कि साउथ इंडिया से हैं, के बेटे का जन्मदिन था। उस के उपलक्ष्य में पूजा क

17

कविता दिवस की शुभकामनाएं!

21 मार्च 2022
2
1
0

दिनाँक : 21.03.2022समय। : रात 10 बजेप्रिय डायरी,कविता ज्यों तिमिर में प्रकाश-पुंजकविता मन की आवाज की गूंज।कविता किंचित शब्दों से करती प्रहार,कविता मनोभावों का सुमधुर उदगार।।

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए