shabd-logo

वीर बाल दिवस

hindi articles, stories and books related to viir baal divs

गुरु गोबिन्द सिंह जी के 4 पुत्र अजीत सिंह, जुझार सिंह, जोरावर सिंह और फतेह सिंह थे. ये चारों ही खालसा का हिस्सा थे। 26 दिसंबर के दिन ही जोरावर सिंह और फतेह सिंह, इसी हमले में शहीद हुए थे और बाकी परिवार वालों से अलग हो गए। उनकी शहादत को याद करने के लिए ही ये दिन मनाया जाता है. गुरु गोबिन्द सिंह जी चारों पुत्रों को 19 वर्ष की आयु से पहले ही मुगल सेना द्वारा मार डाला गया था। 2022 में जनवरी में गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व पर तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने प्रतिवर्ष 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा की थी।


 दस गुरुवों में गुरु गोविन्द सिंह थे वीर संतधर्म रक्षा के खातिर बनाया खालसा पंथदार्शनिक थे, ज्ञानी संग बड़े कुशल योद्धाबर्बर मुग़ल बादशाह संग लड़े कई युद्ध।चमकौर की लड़ाई में सिख सेना में था उत्साहमु

featured image

वीर बाल दिवस गुरु गोविंद सिंह जी के चार पुत्रो की यादगार में मनाया जाता है।इतिहास कहता है कि 19 वर्ष की आयु में ही ये वीरगति को प्राप्त हुए थे।मुगल सेना द्वारा इन्हे मार डाला गया था । प्रधानमंत्र

वीर बाल दिवस लेखक : प्रिन्स सिंहलप्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जनवरी 2022 को घोषणा की थी, कि सिख गुरु गोबिंद सिंह के चार 'साहिबजादों' के साहस को श्रद्धांजलि के रूप में इस वर्ष से 26 दिसंबर को '

संबंधित टैग्स

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए