shabd-logo

रेलगाडी में किलकारी

7 नवम्बर 2021

18 बार देखा गया 18
रेल यात्रा नाम सुनते ही बहुत सारी यादें हैं जो लिखना थोड़ा मुश्किल है, पर एक यादें हैं जो अभी दो साल पहले की है जो मेरे लिए बहुत ही यादगार था।
यात्रा तो सभी लोग करते हैं हर यात्रा यादगार ही होती है
जो सबके लिए भी होती होगी। हमारी ये यात्रा है रेलयात्रा जो हम अपने परिवार के साथ कर रहे थे ज्यादा पुरानी यात्रा नही है दो साल पहले हम अपने परिवार के साथ बेंगलोर जा रहे थे यात्रा ज्यादा लम्बी थी। जब पूरे परिवार के साथ अगर हम रेलयात्रा कर रहें हों तब क्या कहना
बहुत अच्छा लगता है न मुझे तो बहुत अच्छा लगता है
सच्ची में खूब सारा मस्ती बातें और खूब खाना और सोना  हम सब अपने सीट पर बैठ कर बातें कर रहे थे और जो यात्री थे उनसब से भी थोड़ी बहुत बातचीत कर रहे थे क्योंकि हम ज्यादा देर चुप नही रह सकते हैं अगर ज्यादा देर चुप रह गये तो पेट में गड़बड़ होने लगता है
फिर क्या थोड़ी ही देर हम सब आपस में बातचीत करने लगे  जिन्हें नही करना था वो चादर तान के सो रहे थे
कुछ अपने मोबाइल में वस्यत थे।
हम सब इधर उधर की बातें कर रहे थे और यात्रा हो रही थी ।
हमारे बगल सीट पर एक मुस्लिम परिवार भी थे वो भी हम सब के साथ बातचीत करते यात्रा का आनंद ले रहे थे
सब लोग ऐसे लग रहे थे की सब जानपहचान वाले हों आपस में बातचीत करते  यात्रा का आनंद  उठा रहे थे फिर क्या सब लोग रात हुआ तो खाना खा के सोने
लगे हमारा भी परिवार खा के सो गया ट्रैन में एकेदुके लोग जगे थे सब सो गये थे  हमें नींद नही आ रही थी  हम जगे थे तो देखे बगल वाले सीट के पास खुसर पुसूर हो रही है तो हमें डर लगा की कुछ अनहोनी तो नही हो गया मुझे लगा की आखिर बात क्या फिर मैने एक यात्री से पूछा तो वो बोली जो बाजू वाली सीट जो मुस्लिम औरत थी न उनके पेट में दर्द हो रहा है इस लिए सब परेशान हैं फिर क्या हम भी वंहाँ गये तो वो औरत दर्द से परेशान थी और उनका परिवार भी साथ में 
वंहाँ पे थे सो सब हुआ ये था की वो औरत माँ बनने वाली थी इसलिए सब इतना परेशान थे क्योंकि रात का
समय था ट्रैन अपनी रफ़्तार से चल रही थी आसपास अभी कोई स्टेशन भी आने वाला नही था आखिर होगा तो क्या होगा सब के चेहरे पर  पारेशनी थी तभी एक महिला थी जो उनकी मदद की जो थी बहुत कम उम्र की फिर भी हिम्मत करके सबने उनकी मदद की कोई गर्म पानी लाया कोई अपने पास जो अख़बार था वो दिया सबने मिलकर उस सीट को ढक कर जैसे अस्पताल बना दिया फिर क्या सबकी दुआ में असर था सबकी दुआ से वो महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया  और वो भी माँ और बच्चे दोनों सही सलामत थे उस वक्त वंहाँ पर जीतने लोग थे न सबकी सांसे रुकी थी । जब उस नन्हे सी जान की रेलगाड़ी में  किलकारी  गुंजी तब क्या कहना  सब के चेहरे पर  ख़ुशी छा गई सबने उस महिला को ध्न्यावाद दिया। फिर उस महिला के पति ने सबसे कहा की आपसब की वजह से इस मुश्किल घड़ी में आप सब के हिम्मत से आज हम अपने परिवार के साथ हैं मुझे तो लगा हमारी तो दुनिया ही लुट गई। जब उस महिला से  हम पूछे की आप कोई डॉक्टर  थी  तो वो हँसते हुए बोली नही जब आप के पास कोई समस्या आती है तो आप में खुद ही हिम्मत आ जायगी वो काम करने की
तब हम बोले आप ने तो कर दिखाया।
फिर कोई स्टेशन आने वाला था जहाँ उन्हें उतरा जा सकता था क्यों की उन्हें अस्पताल जाने के लिए फिर वो चली गयी सबको धन्यवाद देकर।
 मेरे लिए ये रेलगाड़ी की यात्रा बहुत ही अद्धभुत थी क्यों
जिस तरह सब मिलकर उनकी मदद की मुझे बहुत अच्छा लगा क्यों की उस वक्त कोई सोचा ही नही था हम किसी अजनबी की मदद क्यों करें सब को लग रहा था
की हमारा ही कोई अपना है जिसकी हम सब मिलकर मदद कर रहे हैं
फिर क्या जब सुबह हुई तो हम अपने परिवार को ये बात बताया तो बोले हमें कुछ मालूम ही नही पड़ा तो हम बोले आप सब घोड़े बेच कर सो जो रहे थे  सब हँसने लगे
हम सब का भी यात्रा रेलगाड़ी में किलकारी के साथ
पूरी हो गई थी। सब अपने  मंजिल पर उतर गये।
सच में बहुत ही अनोखा यात्रा था रेलयात्रा वो भी रेलगाडी में किलकारी खास कर मेरे लिए।
एक बात तो होती है इस यात्रा में लोग मिलते बहुत हैं पर सब अपनी अपनी मंजिल पर मिलकर खो जाते हैं 
सुकून

सुकून

कैसे करुँ तेरा शुक्रिया 😄😄

7 नवम्बर 2021

दुःखी आत्मा "जलीभूनि"

दुःखी आत्मा "जलीभूनि"

तु हर विषय पर लिख लेती है। कमाल है तु........! ऐसे ही लिखते रहना।

7 नवम्बर 2021

1

हमदर्द

17 सितम्बर 2021
10
7
6

<div>जिंदगी में एक हमदर्द का होना चाहिए </div><div>जो आपके जिंदगी के दर्द को लिखना </div><

2

बातें

18 सितम्बर 2021
3
8
2

<div>बातें तो हर कोई सुनता है </div><div>बातें तो हर कोई कहता है </div><div>बस बातें

3

बातें

19 सितम्बर 2021
1
6
0

<div>अब तो लोग बात कर लेते हैं ,</div><div>तो ऐसा लगता है जैसे कोई ,</div><div>उनसे गुनाह हो गया है

4

प्यार

20 सितम्बर 2021
0
3
0

<div> लोग न काम करके कभी थकता है ।</div><div>न कभी हार कर थकता है।</div><div>बस अपन

5

वक्त

21 सितम्बर 2021
0
6
0

<div>वक्त यूँ ही ठहर जाता है जिंदगी में </div><div>जब जिंदगी में कोई खास नही होता है </div

6

🌹जिंदगी 🌹

22 सितम्बर 2021
0
4
0

<div>जिंदगी भर हमने देखा एक ख्वाब कि,🌹</div><div>तुम हमें भुला के जिंदगी में आगे ,</div><div>

7

शादी .....🌹🌹🌹🌹

23 सितम्बर 2021
1
1
0

<div>तुम से प्यार करके शादी नही हुई ,🌹</div><div>तो कोई नयी बात नही हुई ।🌹</div><div>अ

8

🌷पल🌷

25 सितम्बर 2021
1
3
0

<div>आओ जिंदगी में प्यार के दो पल गुजारा ले ,🌷</div><div>फिर क्या पता कभी मुलाकात हो न हो ।🌷

9

🌷यादें 🌷

26 सितम्बर 2021
2
2
2

<div>आज भी हम बस गुजरे हुए वक्त ,🌹</div><div>में यूँ ही ठहर जाता हूँ ।🌹</div><div>मगर ये पता ही नह

10

💗💗💗दिल 💗💗💗

27 सितम्बर 2021
0
1
0

<div><br></div><div>अब ये दिल 💗बेचारा, </div><div>क्या करेगा।</div><div>दिल 💗से एक गलती

11

❤❤प्यार ❤❤

28 सितम्बर 2021
1
1
2

<div>❤वजह न पूछो प्यार की , ❤</div><div>❤बस तुम्हें प्यार करते हैं ।❤</div><div>❤कहीं उम्र न ब

12

"जिंदगी "

30 सितम्बर 2021
0
1
0

<div>हमें मालूम ही नही था कि प्यार ,</div><div>क्या होता है जिंदगी में ।</div><div>तुम्हें देखा तो ज

13

"नफरत "

1 अक्टूबर 2021
0
1
0

<div>इस दुनिया में लोग भी बहुत ,</div><div>अजीब होते हैं ।</div><div>अगर प्यार नही मिलता है तो ,</di

14

"मुश्किल "

3 अक्टूबर 2021
3
3
2

<div>कितना मुश्किल है न सच्चा </div><div><br></div><div>प्यार करना.❤</div><div><br></div>

15

"रूठना "

4 अक्टूबर 2021
1
1
2

<div>तुम रूठते हो कैसे .</div><div>मुझे भी सिखा दो न .</div><div>अपने जैसा रूठना .</div><div>य

16

"रिश्ता "

8 अक्टूबर 2021
0
2
0

<div>एक प्यारा सा रिश्ता है!❤</div><div>तेरे मेरे बीच में,❤</div><div>अगर मैं कभी रूठ जाऊँ तो!

17

तन्हा

9 अक्टूबर 2021
0
2
0

<div>जब मुझे तेरी जरुरत थी।</div><div>तब तो तुम दुर चले गये,</div><div>मुझे तन्हा छोड़ कर।</div><div>

18

(रिश्ते)

10 अक्टूबर 2021
0
1
0

<div>कुछ रिश्ते ऐसे जुड़ जाते हैं।</div><div>जिसे हमने कभी चाहा ही नही,</div><div>कुछ रिश्ते ऐसे टूट

19

जँहा चाह वंहाँ राह

11 अक्टूबर 2021
2
1
0

<div>जँहा चाह वहाँ राह ये शीर्षक कितना अच्छा लगता है जिंदगी में लेकिन जिसने इस राह से गुजर कर मंजिल

20

🌹🌹🌹सफर 🌹🌹🌹

14 अक्टूबर 2021
2
2
0

<div>जिंदगी का सफऱ गुजर रहा है</div><div>आहिस्ता आहिस्ता</div><div>न किसी से जीत जाने का

21

"याद "

16 अक्टूबर 2021
1
0
0

अगर मैं तुम्हें प्यार करना छोड़ दूँ,<div>तो सारी दुनिया तुम्हें प्यार करने,</div><div>लग जाएगी।</div>

22

❤बच्चों की किलकारी माँ के लिए ❤

18 अक्टूबर 2021
1
1
2

<div>एक माँ अधूरी होती है जब तक</div><div>एक किलकारी नही गूंजती है</div><div>उसके आँगन में</div><div

23

❤ये दिल ही तो है ❤

21 अक्टूबर 2021
1
3
0

<div align="left"><p dir="ltr">ये दिल ही तो है न बाबा<br> थोड़ा बच्चा है न जी <br> थोड़ा स

24

प्रसिद्धी की महत्वकांक्षा

21 अक्टूबर 2021
2
0
0

<div>'प्रसिद्धी की महत्वकांक्षा'</div><div>दुनिया में हर कोई महत्वकांक्षी होता है इस के बिना लोग कुछ

25

"चारपाई"

22 अक्टूबर 2021
0
0
0

<div align="left"><p dir="ltr">मेरे नानी के आँगन में<br> चारपाई बिछी रहती थी<br> मानो ऐसा लगता था की

26

भाग जा

25 अक्टूबर 2021
2
0
0

<div>चल हट नौ दो</div><div>ग्यारह हो जा</div><div>वरना तेरी बैंड</div><div>बज जायगा </div><div>

27

मन का मीत

25 अक्टूबर 2021
1
1
2

<div>मीत तो मिला मन का लेकिन मैं बन न सकी,</div><div>उसके मन का मीत मैं तो रह गई बिना मीत के।</div><

28

पुष्प और बेटी

26 अक्टूबर 2021
0
1
0

<div>पुष्प और बेटी की अभिलाषा,</div><div>एक जैसी होती है।</div><div>वो खिलती है हमेशा दूसरों के,</di

29

बारिश

29 अक्टूबर 2021
1
1
0

<div>बारिश की बुँदे नाम</div><div>सुनकर गुदगुदी होती है</div><div>बचपन की बदमाशीयाद </div

30

दिया और अंधेरा

30 अक्टूबर 2021
2
1
2

<div>दीप तले अंधेरा ये तो</div><div>सच में कहा गया है जो</div><div>दूसरों को रौशनी देता</div><div>खु

31

आसमान छूने की जिद

1 नवम्बर 2021
10
5
7

आसमान छूने की जिद में<div>हम अपनों को ही भूल गये</div><div>ये कैसी जिद हमने कर ली</div><div>की हमस

32

घर का भेदी

1 नवम्बर 2021
1
0
0

<div><b><i>घर का भेदी लंका ढाये,</i></b></div><div><b><i>ये बात सोलह आने सच्ची थी।</i></b></div><div

33

🐦परिंदे 🐦

2 नवम्बर 2021
2
2
2

<div>नादान परिंदे तो बस उड़ना जानते हैं🐦</div><div>उन्हें क्या पता कौन हमारा शिकारी है🐦</div><div>व

34

जगमगाते सितारे

3 नवम्बर 2021
1
0
0

<div>हम सब बचपन से देखा है</div><div>आसमान में जगमगाते तारे</div><div>कितना अच्छा लगता है न</div><di

35

दिवाली

4 नवम्बर 2021
3
4
6

<div>ये दीपावली भी कितना अच्छा,</div><div>लगता है न,</div><div>दिल में उमंग छा जाती है।</div><div>अम

36

रेलगाडी में किलकारी

7 नवम्बर 2021
1
1
2

<div>रेल यात्रा नाम सुनते ही बहुत सारी यादें हैं जो लिखना थोड़ा मुश्किल है, पर एक यादें हैं जो अभी दो

37

त्योहार की यादें

8 नवम्बर 2021
8
3
8

त्यहारों की याद तो सबको आती है<div>ऐसा कोई नही है जो त्यहारों को</div><div>याद नही करता है</div><div

38

छठ पूजा की ख़ुशी

9 नवम्बर 2021
2
2
3

आज न मैं एक बात बातना चाहता हूँ पता है वो क्या ख़ुशी लेकिन कभी कभी वो ख़ुशी अपने से ज्यादा दूसरों को द

39

सफ़र हमसफ़र

10 नवम्बर 2021
3
3
6

हमसफ़र की बातें तो बहुत सुनी है<div>हमसफ़र के किस्से भी बहुत लिखें</div><div>गये हैं </div><div>&

40

आक्रोश की बीमारी

15 नवम्बर 2021
1
1
1

क्या बात है सारे जँहा आक्रोश<div>से भरा है</div><div>क्या आक्रोश ही हर समस्या का</div><div>समाधान है

41

बच्चे मन के सच्चे

16 नवम्बर 2021
4
1
2

बच्चे सच्ची में मन के सच्चे होते हैं तभी तो लिखने वाले ने लिखा होगा<div>आज बहुत पुरानी बात याद आ गई

42

बुढ़ापा एक कड़वा सच

18 नवम्बर 2021
3
2
1

सभी लोंगो के जिंदगी का एक करवा सच है <div>वो है बुढ़पा जो सभी लोंगो के पास आता है</div><div>चाह

43

💐मेरा चाँद खोया खोया है 💐

19 नवम्बर 2021
3
2
4

आज कल मेरा चाँद<div>खोया खोया सा रहता है </div><div>पता नही क्यों </div><div>आज कल वो रू

44

तन्हाई तेरी यादों की

21 नवम्बर 2021
1
1
2

तुम्हारी यादों की तन्हाई,<div>बहुत प्यारी मुझे लगती है।</div><div>तन्हाई की बात न पूछो हमसे,</div><d

45

पुनर्जन्म पति पत्नी का

22 नवम्बर 2021
2
2
2

एक पति के लिए पुनर्जन्म<div>तब होता है </div><div>जब पत्नी मायके चली</div><div>जाती है तब</div>

46

जिंदगी में चीनी कम है

23 नवम्बर 2021
0
0
0

दुनिया में चीनी का दाम बढ़ रहा है।<div>और जिंदगी में चीनी कम हो रहा है।</div><div>रिश्तों में मिठास ह

47

स्त्री हमेशा आत्मनिर्भर होती है

25 नवम्बर 2021
0
0
0

<div align="left"><p dir="ltr">एक औरत हमेशा ही आत्मनिर्भर है<br> बस लिखने वाले गलत लिख देते<br> बोलन

48

नाराज

25 नवम्बर 2021
0
0
0

<div>तुझे क्या बतऊँ मैं क्यों?</div><div>तुमसे नाराज हैं।</div><div>वजह तो कुछ भी नही था।</div

49

मोबाइल के फ़ोन कलयुग की बांसुरी

27 नवम्बर 2021
0
0
0

मोबाइल फ़ोन तो जैसे<div>कलयुग कि बांसुरी हो</div><div>गयी है </div><div>जब इसकी धुन

50

टमाटर का सूप

30 नवम्बर 2021
0
0
0

<p><br></p> <figure><img src="https://shabd.s3.us-east-2.amazonaws.com/articles/6144d730d2a3177df5d7

51

रसोई हो या दिल की खिड़की

30 नवम्बर 2021
1
1
0

रसोई की खिड़की हो,<div>या दिल की खिड़की,</div><div>दोनों खुलती है।</div><div>प्यार के खुशबू से,</div><

52

ओस की जिद

1 दिसम्बर 2021
2
2
1

ओस की बुँदे बहुत कुछ सीखती है।<div>जिंदगी में,</div><div>उसमें कितना जिद होता है जमीं,</div><div>पर

53

स्वीट कॉर्न चीजी

2 दिसम्बर 2021
0
0
0

<div>स्वीट कॉर्न चीजी </div><div><br></div><img style="background: gray;" src="https://shabd.s3

54

दादी दादू का प्यार अनमोल होता है

2 दिसम्बर 2021
1
1
0

दादी और दादू का प्यार दुनिया में,<div>बहुत ही अनमोल चीज,</div><div>होता है।</div><div>सबकी किस्मत मे

55

ख़ामोशी

3 दिसम्बर 2021
1
1
1

तुम्हारा बेरुखी इतनी याद नही आता है।<div>जितना तुम्हारा ख़ामोशी याद आता है।</div><div>तुम से अच्छा तो

56

मंजिल

3 दिसम्बर 2021
2
2
1

किसी ने रास्ता दिखा कर,<div>मुँह मोड़ लिया है।</div><div>अब तो खुद ही मंजिल,</div><div>तालश करना है।<

57

जिंदगी

4 दिसम्बर 2021
2
1
2

बातें होना या ना होना,<div>जिंदगी में इतना मायने,</div><div>नही रखता है।</div><div>लेकिन जिंदगी में

58

❤दिल ❤

4 दिसम्बर 2021
1
1
0

प्यार मिले या न मिले,<div>ये तो किस्मत की, </div><div>बात होती है।</div><div>लेकिन किसी क

59

अविश्वासनीय गलती

4 दिसम्बर 2021
0
0
0

अविश्वासनीय होता है न,<div>जब कोई माँ पहले लड़की को,</div><div>जन्म देती है।</div><div>और दुबारा भी अ

60

बीता पल

5 दिसम्बर 2021
0
0
0

<div>कैसे भुला दे हम अपने,</div><div>बीते हुए कल को,</div><div>और बीते हुए पल को,</div><div>इतना आसा

61

चाहत

5 दिसम्बर 2021
0
0
0

तुझे चाहा है तुझे चाहेंगे।<div>तुझे प्यार किया है और,</div><div>हमेशा प्यार करेंगे।</div><div>अगर तु

62

क्यों मुझे भी साथ लेकर जाते

12 दिसम्बर 2021
2
1
2

ये सच्ची बात है लेकिन<div>विश्वास नही कर पाती है</div><div>जिंदगी</div><div>जिंदगी में आप जब कभी</di

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए