shabd-logo

सामाजिक की किताबें

Social books in hindi

विभिन्न विषयों पर सामाजिक पुस्तकों को पढ़ें Shabd.in पर। हमारा यह संग्रह समाज के विभिन्न पहलुओं को उजागर करता है। इस संग्रह की मदद से हम पारिवारिक रिश्ते, जात-पात, अमीर-गरीब, दहेज, रंग भेद जैसे कई मुद्दों पर समाज को रौशनी दिखाने का प्रयास करते हैं। इसके अलावा भी भौगोलिक स्थिति के वजह से हाशिये पर रहे समाज की स्थिति पर भी हम समीक्षा देते हैं। तो चलते हैं समाजिक पहलुओं पर चेतना जगाने Shabd.in के साथ।
फूल पत्ते

इस कविता में हमें यह सीख मिलती है कि हमें अपने ऊँचे कुल में जन्म लेने का घमंड नहीं करना चाहिए क्योंकि मनुष्य का वंश नहीं बल्कि उसके कर्म उसे संसार में प्रसिद्धि दिलाते हैं।

1 पाठक
50 अध्याय
15 जून 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

लेखन सार

लेखन सार भिन्न भिन्न विषयों पर लेखों का संग्रह है।

11 पाठक
10 अध्याय
6 जुलाई 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

 चल आ कविता कहे ।

जयश्रीकृष्ण मित्रगण सुधिजन व पाठकगण यह पुस्तक एक काव्य प्रस्तुति है,,जो जीवन के रंग के कई दस्तावेज। आपको दिखाएगी, आप रंगरेज के रंगो का आनंद लीजिएगा। आप को समर्पित। है आपके प्यार को। जयश्रीकृष्ण जयश्रीकृष्ण जयश्रीकृष्ण

5 पाठक
13 अध्याय
4 अगस्त 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

उद्बोधिता

उगते सूर्य की किरणों से झिलमिल करती माँ नर्मदा की लहरों पर बहता मृत प्रायः युवा नारी शरीर…..क्या उसमें जीवन शेष था ? …….. सदानंद बाल-ब्रह्मचारी है।सांसारिक बंधनों से मुक्त होते हुए भी वह एक ऐसी परीक्षा से गुजरता है जो ब्रह्मचर्य के निषेधों पर प्रश्न

5 पाठक
2 लोगों ने खरीदा
18 अध्याय
4 जुलाई 2022
अभी पढ़ें
42
ईबुक
200
प्रिंट बुक

इंतज़ार की कीमत

इस उपन्यास में एक औरत की सहनशक्ति को दर्शाते हुए यह बताने की कोशिश की गई है कि,एक औरत को अपने पति पर विश्वास करना चाहिए पर अंधविश्वास नहीं क्योंकि किसी भी रिश्ते पर किया गया अंधविश्वास आगे चलकर स्वयं के ही विश्वास को खंड-खंड कर देता है जो एक औरत की आ

अभी पढ़ें
निःशुल्क

मेरे अभिमान है पापा ...

मेरे प्यारे पापा🙏🏻😊❤️

12 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
4 अध्याय
19 सितम्बर 2022
अभी पढ़ें
4
ईबुक

मेरे बाद...

गहरी से गहरी बात को आसानी से कह देने का जटिल हुनर जाननेवाले राहत भाई से मेरा बड़ा लम्बा परिचय है। मुशायरे या कवि-सम्मेलन में वे कमल के पत्ते पर बूँद की तरह रहते हैं। पत्ता हिलता है, झंझावात आते हैं, बूँद पत्ते से नहीं गिरती। कई बार कवि और शायर कार्यक

0 पाठक
0 लोगों ने खरीदा
0 अध्याय
31 मई 2022
अभी पढ़ें
125
प्रिंट बुक

रुत

राहत अपनी शायरी में दो तरह से मिलते हैं - एक दर्शन में और एक प्रदर्शन में। जब आप उन्हें हल्के से पढ़ते हैं तो केवल आनन्द आता है, लेकिन जब आप राहत के दर्शन में, विचारों में डूबकर पढ़ते हैं तो एक दर्शन का अहसास हो जाता है। और जब आप दिल से पढ़ते हैं तो वह

0 पाठक
0 लोगों ने खरीदा
0 अध्याय
31 मई 2022
अभी पढ़ें
125
प्रिंट बुक

जीवन मे दूसरे मौके

आज हम जीवन में दूसरे मौके इसलिए नहीं ले पाते क्योकि हम सभी अपने लक्ष्य और मानसिकता के साथ सोचते और समझते नहीं है। आओ पढ़ते.........

0 पाठक
0 अध्याय
16 मार्च 2023
अभी पढ़ें
निःशुल्क

कैसी है री तू।मेरी कविता।

यहा रोज इक नई कविता डालूगा। यही प्रयास है। दस होने पर यह पूर्ण होगी। जय श्रीकृष्ण।

7 पाठक
10 अध्याय
13 जून 2022
अभी पढ़ें
निःशुल्क

मेरी कविताएं

इस किताब में सिर्फ आप कविताएं पढ़ेंगे

24 पाठक
0 लोगों ने खरीदा
26 अध्याय
3 जनवरी 2022
अभी पढ़ें
6
ईबुक

सच के राही

यह पुस्तक मेरे द्वारा लिखित कविताओं का एक संग्रह है । इसकी हर एक कविता किसी न किसी सामाजिक सच्चाई से रुबरु कराती है इसीलिए इस पुस्तक का नाम है " सच के राही " मैंने अपनी कलम से कडवे सच को लिखने का साहस किया है और इसमें आप सबके यथासम्भव सहयोग की उम्मीद

78 पाठक
5 लोगों ने खरीदा
36 अध्याय
4 फरवरी 2022
अभी पढ़ें
53
ईबुक
178
प्रिंट बुक

 प्रतिनिधि कवितायेँ

शुरू से लेकर अब तक की कविताएँ सिलसिलेवार पढ़ी जाएँ तो कुँवर नारायण की भाषा में बदलते मिज़ाज को लक्ष्य किया जा सकता है। आरम्भिक कविताओं पर नई कविता के दौर की काव्य-भाषा की स्वाभाविक छाप स्पष्ट है। इस छाप के बावजूद छटपटाहट है—कविता के वाक्य-विन्यास को आ

0 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
0 अध्याय
21 मई 2022
अभी पढ़ें
85
प्रिंट बुक

"निर्मल काव्य-सौरभ"

"निर्मल काव्य-सौरभ" में सामाजिक जीवन के बदलते परिवेश, प्रेम की परिकल्पनाएं, एवं जीवन के गहन अनुभवों को शब्द रुपी मोतियों में पिरोकर,उन्हें श्रृंखलाओं में सृजन कर ,राग-माधुर्य के साथ मालाओं का नव सृजन कर ,प्रिय पाठकों को समर्पित करने का एक उत्तम प्रया

8 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
65 अध्याय
1 अक्टूबर 2022
अभी पढ़ें
27
ईबुक

होंठों पर तैरती मुस्‍कान

''गरीबी में डॉक्टरी' के उपरान्त 'होंठों पर तैरती मुस्कान' मेरी कहानियों का दूसरा संग्रह है। संग्रह की कहानियाँ सीधे सरल शब्दों में सामाजिकता के ताने-बाने बुनकर मैंने पाठकों को कुछ न कुछ संदेश देने का प्रयास किया है। मेरे इस संग्रह की पहली शीर्षक कहान

53 पाठक
16 लोगों ने खरीदा
8 अध्याय
30 मई 2022
अभी पढ़ें
44
ईबुक
151
प्रिंट बुक

 आर्यावर्त का शत्रु (रावण)

रावण मनुष्यों में विशालतम बनने, विजयी होने, लूटपाट करने, और उस महानता को हासिल करने के लिए दृढ़संकल्प है जिसे वह अपना अधिकार मानता है। वह विरोधाभासों, नृशंस हिंसा और अथाह ज्ञान से भरपूर व्यक्ति है। ऐसा व्यक्ति जो प्रतिदान की आशा के बिना प्रेम करता है

0 पाठक
0 लोगों ने खरीदा
0 अध्याय
6 मई 2022
अभी पढ़ें
399
प्रिंट बुक

मधुर एवं प्रेरक कहानियां

स्वरचित कहानियां जो मनुष्य के जीवन के कुछ घटना क्रमों से सम्बंधित करके दिमागी विचारों से रची गई है। जिनका मुख्य उद्देश्य घटनाक्रमों से शिक्षा लेकर अपने जीवन में सुधार करके कुछ बदलाव करना इसके अतिरिक्त समाज में इस तरह के व्यवहारों को रोकना जो मानवता स

10 पाठक
2 लोगों ने खरीदा
8 अध्याय
17 मई 2022
अभी पढ़ें
27
ईबुक

रोचक  कविताएँ

कम उम्र में ही मां के चले जाने के कारण इन्हें जिम्मेदारियों को ना चाहते हुए भी उठाना पड़ा जिम्मेदारियों का भार और अकेलेपन के कारण इन्होंने कम उम्रमें ही लिखना शुरु कर दिया। इनकी कविताओं का पहला संकलन “अमृत लेहरन (अमर लहरें)” सन् 1936 में प्रकाशित हुई

अभी पढ़ें
निःशुल्क

यूँ ही अचानक कहीं कुछ नहीं घटता

लोकोक्तियों पर आधारित मेरी पहली 'लोक उक्ति में कविता' संग्रह के उपरान्त यह मेरा दूसरा काव्य संग्रह है। इस संग्रह में मैंने बिना किसी भाषाई जादूगरी और उच्चकोटि की साहित्यिक कलाबाजी के स्थान पर दैनिक जीवन की आम बोलचाल की भाषा-शैली को प्राथमिकता दी है।

23 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
53 अध्याय
10 जून 2022
अभी पढ़ें
63
ईबुक
227
प्रिंट बुक

शर्तें लागू

आप कह सकते हैं कि 'शर्तें लागू' नई वाली हिंदी की पहली किताब है। इस किताब में आपके स्कूल में पढ़ने वाली वह लड़की है जिसके बारे में सब बातें बनाते थे। मोहल्ले के वह भइया हैं जो कुछ भी हो जाता था तो कहते थे टेंशन मत लो यार सब सही हो जाएगा। वे अंकल हैं ज

0 पाठक
1 लोगों ने खरीदा
0 अध्याय
3 मई 2022
अभी पढ़ें
149
प्रिंट बुक

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए