shabd-logo

कहीं धूप कहीं छाया

24 नवम्बर 2021

420 बार देखा गया 420

ईश्वर की है यह अद्भुत लीला
कहीं चमकती धूप है तो कहीं छाया ही छाया।
जिनको मिलती नहीं धूप वे तरसते हैं धूप को।
जिनको मिलती खाली धूप तरसते छाया को।
भर गर्मी धूप में छाया ढूंढते।
मारे मारे इधर-उधर भटकते।
कहीं एक पेड़ नजर आए
इसकी छाया भी शीतलता दे जाती।
कुछ देर बैठ वही सुस्ताते।
और मन को खुश कर जाते।
यही हाल है छाया का जहां बहुत कम  निकले धूप ।
उन देशों में जाकर देखो यहां दिनभर रहती छाया मन हर समय रहता अलसाया।
कभी कभी   थोड़ी धूप को जो उनको नसीब होती।
वही उनको ताकत दे जाती।
इसीलिए मेरे दोस्तों जिंदगी में धूप और छांव दोनों ही जरूरी है।
दोनों का अपना-अपना महत्व है।
स्वरचित पंक्तियां 24  नवंबर 21


sayyeda khatoon

sayyeda khatoon

बहुत खूबसूरत लिखा है आपने 👌👌

24 नवम्बर 2021

Vimla Jain

Vimla Jain

24 नवम्बर 2021

Thanks

Vimla Jain

Vimla Jain

बेहतरीन प्रस्तुति

24 नवम्बर 2021

38
रचनाएँ
विमला जैन का कविता संग्रह
5.0
इसमें मेरी बात वास्तविकता दर्शाती कविताएं होंगी इनको मैंने लिखा है बहुत साहित्यिक भाषा मुझे नहीं आती है सीधी सादी सरल भाषा में लिखी गई कविताएं
1

प्यारी यारियां

16 सितम्बर 2021
10
6
2

<div><span style="font-size: 16px;">यारियां यारियां यारियां</span></div><div><span style="font-size:

2

सुनसान से गली मोहल्ले

17 सितम्बर 2021
3
4
1

<div align="left"><p dir="ltr">क्यों यह गलियां सोई पड़ी हैं।<br> क्यों यह वीरान सुनसान पड़ी है। लगता

3

झूलती मौत

17 सितम्बर 2021
5
2
5

<div><span style="font-size: 16px;">झूलती मौत से क्या डरना है यारा।</span></div><div><span style="fo

4

घुंघट रूपी चुड़ैल की टोपी

18 सितम्बर 2021
1
5
1

<div align="left"><p dir="ltr">जी हां मैंने चुड़ैल और चुड़ैल की टोपी तो मैंने नहीं देखी है।☺️<br> मग

5

जासूसी

19 सितम्बर 2021
2
5
1

<div><span style="font-size: 16px;">आज मोहल्ले में हलचल मची है।</span></div><div><span style="

6

बदलेंगे हम जहाँ

20 सितम्बर 2021
1
2
1

<div><span style="font-size: 16px;">समय था वह बड़ा ही परेशानी भरा।</span></div><div><span style="fon

7

चल मुसाफिर चल

21 सितम्बर 2021
2
1
1

<div align="left"><p dir="ltr">चलो चले मितवा इस प्यारी प्यारी दुनिया में कहीं दूर निकल जाए।<br> फुर्

8

चलते चलते यह कहां आ गए हम

21 सितम्बर 2021
1
1
2

<p>यह चलते चलते हम कहां तक आ गए।</p><p>जिंदगी की आपाधापी में हम कहां खो गए।</p><p>अपनों के साथ अपनों

9

जादुई दुनिया

23 सितम्बर 2021
4
5
3

<div align="left"><p dir="ltr">कभी जब मैं सोचती हूं<br> अकेले बैठे विचार में पड़ती हूं<br> दीन दुनिया

10

समय का पहिया

24 सितम्बर 2021
0
3
2

<div align="left"><p dir="ltr">समय का पहिया चलता जाए यही है उसका काम रे।<br> जो इस निरंतरता पकड़ ले

11

ऊपर वाले का बुलावा

25 सितम्बर 2021
1
3
1

<div align="left"><p dir="ltr">यह जिंदगी है ऊपर वाले ईश्वर की दी हूई।<br> जाने कब उसका बुलावा आ जाए।

12

मेरा प्यारा चैट रूम

26 सितम्बर 2021
3
3
1

<div align="left"><p dir="ltr">जब से व्हाट्सएप की सुविधा है आई। सबने अपने अपने प्यारे प्यारे चैट रूम

13

नन्ही उम्मीदेँ

28 सितम्बर 2021
3
2
1

<div align="left"><p dir="ltr">नन्हे नन्हे बच्चे<br> होती उनकी उम्मीदें नन्हीं।<br> छोटी-छोटी उम्मीद

14

यह मौत के सौदागर

29 सितम्बर 2021
5
5
3

<div align="left"><p dir="ltr">यह गुटका तंबाकू शराब बेचने वालेड्रग्स बेचने वाले।<br> ऐसे मौत के सौदा

15

शापित सड़क/ शापित जगह

30 सितम्बर 2021
3
2
1

<div><span style="font-size: 16px;">यह जीवन है इसमें शापित क्या होता है।</span></div><div><span styl

16

वहां कौन रहता है

1 अक्टूबर 2021
6
3
3

<div align="left"><p dir="ltr">दूर जंगल में एक झोपड़ी नजर आई। जंगल इतना घना था पास जाने की हिम्मत ना

17

सैनिक तो सैनिक है

4 अक्टूबर 2021
2
2
1

<div align="left"><p dir="ltr">सैनिक तो सैनिक है ।<br> युद्ध हो या ना हो ।<br> सैनिक तो सैनिक है ।<b

18

वह कोई नहीं रहता

6 अक्टूबर 2021
2
2
3

<div align="left"><p dir="ltr">ढूंढती हूं मन का चैन।<br> ढूंढती हूंमन का सुकून।<br> ढूंढती हूं मन का

19

यादें जो याद आती हैं

9 अक्टूबर 2021
4
6
3

<div><span style="font-size: 16px;">जब कोई अपना चला जाता है ।</span></div><div><span style="font-siz

20

यह कौन चित्रकार है

9 अक्टूबर 2021
4
5
5

<div align="left"><p dir="ltr">हम हमेशा यह सोचते हैं यह दुनिया किसने बनाई,<br> इतना सुंदर संसार की र

21

खुशियों का ठिकाना

10 अक्टूबर 2021
1
1
1

<div align="left"><p dir="ltr">कहां गई कहां गई मेरी खुशियां कहां गई। <br> इधर ढूंढो उधर ढूंढो कहां ग

22

चीन पाकिस्तान का जिया जले

11 अक्टूबर 2021
0
1
1

<div align="left"><p dir="ltr">क्यों चीन, पाकिस्तान तुम जिया जलाते हो।<br> क्यों नहीं विश्व शा

23

एलियन की खोज

12 अक्टूबर 2021
1
2
1

<div><span style="font-size: 16px;">सोचा हम भी थोड़े कल्पना के घोड़े दौड़ा लेते हैं।</span></div><di

24

स्कूल

13 अक्टूबर 2021
2
2
1

<div align="left"><p dir="ltr">जब हम छोटे बच्चे थे।<br> रोज स्कूल जाते थे। <br> बहुत शरारत करते थे।

25

प्रेम का संदेश

14 अक्टूबर 2021
2
2
1

<div align="left"><p dir="ltr">मेरा यह संदेश खाली अपने देश के लिए ही नहीं ,समस्त संसार के उन लोगों क

26

कल की परछाई

15 अक्टूबर 2021
0
1
1

<div align="left"><p dir="ltr">कल की परछाई आज पर पड़ती है। अगर हम अच्छी तरह रहते हैं तो अच्छी पड़ती

27

बहुरूपी पर्दा

16 अक्टूबर 2021
3
3
2

<div><span style="font-size: 16px;">अजी यह पर्दा बड़े काम की चीज है।</span></div><div><span style="f

28

खुला आसमान

19 अक्टूबर 2021
2
1
3

<div align="left"><p dir="ltr">मां बाबा हम को उड़ने दो ।<br> जब तक हम छोटे थे, तब तक आपने बहुत लाड ल

29

प्यारी सी बिंदिया

20 अक्टूबर 2021
3
1
4

<div align="left"><p dir="ltr">तेरे माथे की सुंदर सी बिंदिया।<br> तुझे बहुत गौरवशाली बना देतीहै।<br>

30

बच्चा टोली नौ दो ग्यारह

25 अक्टूबर 2021
1
2
2

<div align="left"><p dir="ltr">चलो आज हमारा पिटारा खोल देते हैं।</p> </div><p dir="ltr"><br> </p> <d

31

मेरी बगिया के फूल की अभिलाषा

26 अक्टूबर 2021
2
3
1

<div align="left"><p dir="ltr">मैं तेरी बगिया का गुलाब का फूल।<br> देसी गुलाब तूने बहुत ढूंढ ढूंढ कर

32

नादान परिंदे

2 नवम्बर 2021
2
2
3

<div align="left"><p dir="ltr">थे वे नादान परिंदे<br> समझ नहीं थी जिनको खतरे और सुरक्षा की ।<br> बना

33

रेलगाड़ी की मौज

6 नवम्बर 2021
1
2
2

<div><span style="font-size: 16px;">लो चली मैं।</span></div><div><span style="font-size: 16px;">&nbs

34

करवा चौथ का चांद

8 नवम्बर 2021
0
1
1

<div align="left"><p dir="ltr">करवा चौथ का व्रत करके भूखी प्यासी सुहागने जब चांद नहीं दिखता है बहुत

35

कहीं धूप कहीं छाया

24 नवम्बर 2021
1
2
3

<div align="left"><p dir="ltr">ईश्वर की है यह अद्भुत लीला<br> कहीं चमकती धूप है तो कहीं छाया ही छाया

36

आत्मनिर्भर नारी

25 नवम्बर 2021
0
1
1

<div><span style="font-size: 16px;">आत्मनिर्भर नारी</span></div><div><span style="font-size: 16px;">

37

दादी का खोया मोबाइल फोन

27 नवम्बर 2021
0
1
1

<div><span style="font-size: 16px;">आज दादी ने हल्ला मचाया है। मोबाइल फोन जो उनका खो गया है।</span><

38

ओस की प्यारी बूंद

30 नवम्बर 2021
0
1
1

<div><span style="font-size: 16px;">ओस वातावरण में फैले हुए वाष्प का वह रूप है जो जमकर जलबिंदु अथवा

---

किताब पढ़िए

लेख पढ़िए